भारत में कोरोनावायरस से लॉकडाउन 2020

लोकडाउन मिशन

२०२० भारत में कोरोनावायरस महामारी को रोकने के लिए भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को 21 दिनों के लिए पूरे देश को लॉकडाउन रहने का आदेश दिया।[1] इस निर्णय से पहले 22 मार्च को 14 घंटों के जनता कर्फ्यू किया गया था।[2][3]14 अप्रैल सुबह 10 बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए लॉकडाउन की अवधि को आगे बढ़ाकर 3 मई करने का फैसला लिया और कहा कि अगले एक हफ्ते नियम और सख्त होंगे।[4] साथ ही मोदी ने कहा कि जहां नए मामले सामने नहीं आएंगे वहाँ कुछ छूट दी जाएगी।[5] 17 मई को गृह मंत्रालय ने लॉकडाउन को 31 मई तक बढ़ाने की घोषणा की।[6] 30 मई को देशभर में लॉकडाउन के पांचवें चरण की घोषणा की गयी। [7]

भारत में कोरोनावायरस से लॉकडाउन 2020
2019–20 कोरोनावायरस महामारी का एक भाग
तिथी
  • प्रथम चरण: 25 मार्च 2020 (2020-03-25) – 14 अप्रैल 2020 (2020-04-14) (21 दिन)
  • द्वितीय चरण: 15 अप्रैल 2020 (2020-04-15) – 3 मई 2020 (2020-05-03) (19 दिन)
  • तृतीय चरण: 4 मई 2020 (2020-05-04) – 17 मई 2020 (2020-05-17) (14 दिन)
  • चतुर्थ चरण: 18 मई 2020 (2020-05-18) - 31 मई 2020 (2020-05-31) (14 दिन)
  • पाँचवाँ चरण: 1 जून 2020 (2020-06-01) - 30 जून 2020 (2020-06-30) (30 दिन)
जगह भारत
कारण २०२० भारत में कोरोनावायरस महामारी
लक्ष्य भारत में कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकना
विधि * लोगों को अपने घरों से बाहर निकलने से रोकें
  • अस्पतालों, बैंकों, किराने की दुकानों और अन्य आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर सभी गैर-आवश्यक सेवाएं और दुकानें बंद रहेगी
  • वाणिज्यिक और निजी संस्थानों को बंद करना (केवल घर से कार्य किया जा सकता है)
  • सभी शैक्षिक, प्रशिक्षण, अनुसंधान संस्थानों का निलंबन
  • सभी पूजा स्थलों को बंद करना
  • सभी गैर-जरूरी सार्वजनिक और निजी परिवहन का निलंबन
  • सभी सामाजिक, राजनीति, खेल, मनोरंजन, शैक्षणिक, सांस्कृतिक, धार्मिक गतिविधियों पर निषेध
परिणाम 135.2 करोड़ भारतीय जनसंख्या संगरोध में

पृष्ठभूमिसंपादित करें

लॉकडाउन करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संबोधित करते हुए।

भारत सरकार ने केरल में 30 जनवरी 2020 को कोरोनावायरस के पहले मामले की पुष्टि की, जब वुहान के एक विश्वविद्यालय में पढ़ रहा छात्र भारत लौटा था।[8] 22 मार्च तक भारत में कोविड-19 के पॉजिटिव मामलों की संख्या 500 तक थी, इसलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 19 मार्च को सभी नागरिकों को 22 मार्च रविवार को सुबह 7 से 9 बजे तक 'जनता कर्फ्यू' करने को कहा था।[9] प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था: "जनता कर्फ्यू कोविड-19 के खिलाफ एक लंबी लड़ाई की शुरुआत है"। दूसरी बार राष्ट्र को संबोधित करते हुए, 24 मार्च को, उन्होंने 21 दिनों की अवधि के लिए, उस दिन की मध्यरात्रि से देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की।[10] उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के प्रसार को नियंत्रित करने का एकमात्र समाधान सामाजिक दूरी है।[11] उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन जनता कर्फ्यू की तुलना में सख्त लागू किया जाएगा।[12]

रोकसंपादित करें

लॉकडाउन के दौरान लोगों को अपने घरों से बाहर निकलना निषेध किया गया है।[12] सभी परिवहन सेवाओं - सड़क, वायु, और रेल को निलंबित किया गया है हालांकि आग, पुलिस, जरूरी सामान और आपातकालीन सेवाओं का उपयोग किया जा सकेगा।[13] शैक्षिक संस्थानों, औद्योगिक प्रतिष्ठानों और आतिथ्य सेवाओं को भी निलंबित कर दिया गया।[13] खाद्य दुकानें, बैंक और एटीएम, पेट्रोल पंप, अन्य आवश्यक वस्तुएं और उनके विनिर्माण जैसी सेवाओं को छूट दी गई है।[14] गृह मंत्रालय ने कहा कि जो व्यक्ति लॉकडाउन का पालन नहीं करेंगे उन्हें एक साल तक की जेल भी की जा सकती है।[13]

पीएम मोदी की जनता से अपील

  1. अपने घर के बूढ़े-बुजुर्गों का ख्याल रखें।
  2. गाइडलाइन का सख्ती से पालन करें।
  3. अपनी इम्युनिटी बढ़ाएं इसके लिए आयुष मंत्रालय द्वारा दिये गए दिशा-निर्देशों का पालन करें।
  4. आयुष ऐप जरुर डाउन लोड करें और दूसरों को भी करवाए।
  5. जितना हो सके उतना गरीब परिवार की मदद करें उनके लिए भोजन की व्यवस्था करें।
  6. आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करने वाले लोगों के प्रति संवेदना दिखाए, किसी को भी नौकरी से न निकालें
  7. देश के कोरोना योद्धाओं, हमारे डॉक्टर- नर्सेस, सफाई कर्मी, पुलिसकर्मी इन सभी का पूरा सम्मान करें।[15]

वृत्तांतसंपादित करें

लॉकडाउन के पहले दिन, लगभग सभी सेवाओं और कारखानों को निलंबित कर दिया गया था।[16] काफी जगह लोग आवश्यक सामान स्टॉक करते देखे गए।[17] साथ ही जिन लॉकडाउन के दौरान लोगों को मानदंडों का उल्लंघन करते पाये जाने पर गिरफ्तार किया गया, जैसे कि बिना किसी आपात स्थिति के बाहर निकलने, व्यवसाय खोलने और घरेलू संगरोध का उल्लंघन।[18] सरकार ने ई-कॉमर्स वेबसाइटों और विक्रेताओं के साथ बैठकें की, ताकि लॉकडाउन अवधि के दौरान पूरे देश में आवश्यक सामानों की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।[18] कई राज्यों ने गरीब और प्रभावित लोगों के लिए राहत राशि की घोषणा की[18], जबकि केंद्र सरकार प्रोत्साहन पैकेज को अंतिम रूप दिया।[19]

26 मार्च को, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने लॉकडाउन से प्रभावित लोगों की मदद के लिए 1,70,000 करोड़ (US$24.82 बिलियन) प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की।[20] इस पैकेज का उद्देश्य गरीब परिवारों को तीन महीने के लिए सीधे नकद हस्तांतरण, मुफ्त अनाज और रसोई गैस के माध्यम से खाद्य सुरक्षा उपाय प्रदान करना।[21] इसमें चिकित्सा कर्मियों के लिए बीमा कवर भी प्रदान किया।[20]

27 मार्च को, भारतीय रिजर्व बैंक ने लॉकडाउन के आर्थिक प्रभावों को कम करने में मदद करने के लिए कई उपायों की घोषणा की।[22]

प्रभावसंपादित करें

जैसे ही लॉकडाउन की घोषणा की गई, देश भर में लोगों में उनकी आवश्यक सामान की पूर्ति के लिए घबराहट देखी गयी।[23][10][24] अमेज़न इंडिया और फ्लिपकार्ट ने लॉकडाउन के बाद अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से निलंबित कर दिया।[25] केंद्र सरकार की मंजूरी के बावजूद कई राज्य सरकारों द्वारा खाद्य वितरण सेवाओं पर प्रतिबंध लगा दिया गया।[26] लॉकडाउन के बाद बेरोजगार होने के कारण हजारों लोग प्रमुख भारतीय शहरों से बाहर चले गए।[27] लॉकडाउन के बाद, भारत की बिजली की मांग 28 मार्च को घटकर पांच महीने के निचले स्तर पर आ गई।[28]

प्रभावशीलतासंपादित करें

लॉकडाउन के दौरान सब्जी मंडियों में लोगों की भीड़ देखी जा रही है और लोग सामाजिक दूरी (social distancing) नहीं रख रहे है।[29][30][31] 29 मार्च को मन की बात रेडियो कार्यक्रम में मोदी ने इसके खिलाफ सलाह दी और घर से बिना वजह बाहर न निकलने को कहा।[32]

प्रतिक्रियाएंसंपादित करें

भारत के विश्व स्वास्थ्य संगठन प्रतिनिधि हेंक बेकेडम ने इसे "समय पर, व्यापक और मजबूत" बताते हुए प्रशंसा की है।[2] डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी निदेशक, माइक रयान ने कहा कि सिर्फ लॉकडाउन कोरोनोवायरस को खत्म नहीं कर पाएगा। उन्होंने कहा कि भारत को संक्रमण की दूसरी और तीसरी लहर को रोकने के लिए आवश्यक उपाय करने चाहिए।[33]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Gettleman, Jeffrey; Schultz, Kai (24 March 2020). "Modi Orders 3-Week Total Lockdown for All 1.3 Billion Indians". The New York Times (अंग्रेज़ी में). आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0362-4331. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  2. "COVID-19: Lockdown across India, in line with WHO guidance". UN News (अंग्रेज़ी में). 2020-03-24. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  3. Helen Regan; Esha Mitra; Swati Gupta. "India places millions under lockdown to fight coronavirus". CNN. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  4. "3 मई तक देश में रहेगा लॉकडाउन, 1 हफ्ते नियम होंगे और सख्त; पढ़ें PM मोदी के संबोधन की 10 अहम बातें". NDTVIndia. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2020.
  5. "Lockdown Extended till 3rd May: लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा, 20 अप्रैल के बाद झारखंड के कुछ जिलों को मिल सकती है छूट". दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 14 अप्रैल 2020.
  6. "Lockdown 4.0 News : गृह मंत्रालय ने 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने का किया एलान, जानें क्‍या है नई गाइडलांइस में". दैनिक जागरण. अभिगमन तिथि 18 मई 2020.
  7. "Unlock 1/Lockdown 5 : कल से धीरे-धीरे खुलेगा देश, कहां-कितनी छूट आप भी जानें पूरा ब्योरा". प्रभात खबर. अभिगमन तिथि 31 मई 2020.
  8. Ward, Alex (2020-03-24). "India's coronavirus lockdown and its looming crisis, explained". Vox (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-25.
  9. Bureau, Our. "PM Modi calls for 'Janata curfew' on March 22 from 7 AM-9 PM". @businessline (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  10. "India's 1.3bn population told to stay at home". BBC News (अंग्रेज़ी में). 2020-03-25. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  11. "21-day lockdown in entire India to fight coronavirus, announces PM Narendra Modi". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  12. "PM calls for complete lockdown of entire nation for 21 days". Press Information Bureau. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  13. "Guidelines.pdf" (PDF). Ministry of Home Affairs. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  14. Tripathi, Rahul (25 March 2020). "India 21 day Lockdown: What is exempted, what is not". The Economic Times. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  15. "पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा- 21 दिन में जीत लेंगे कोरोना से लड़ाई, पढ़िए उनकी कही 10 प्रमुख बातें". जागरण.
  16. Singh, Karan Deep; Goel, Vindu; Kumar, Hari; Gettleman, Jeffrey (2020-03-25). "India, Day 1: World's Largest Coronavirus Lockdown Begins". The New York Times (अंग्रेज़ी में). आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0362-4331. अभिगमन तिथि 2020-03-27.
  17. Mar 2020, ANI | 24; Ist, 11:13 Am, Covid-19: People flock to wholesale markets in UP, West Bengal amid lockdown, अभिगमन तिथि 2020-03-29
  18. "Day 1 of coronavirus lockdown: India registers 101 new cases, 3 deaths; Govt says working to deliver essential services". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 27 March 2020.
  19. "Rs 2.3 trillion for 1.3 billion: Govt to announce stimulus package to fight coronavirus, says report". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 27 March 2020.
  20. "FM Nirmala Sitharaman announces Rs 1.7 lakh crore relief package for poor". The Economic Times. 2020-03-27. अभिगमन तिथि 2020-03-27.
  21. Choudhury, Saheli Roy (2020-03-26). "India announces $22.5 billion stimulus package to help those affected by the lockdown". CNBC (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-27.
  22. "RBI cuts rates, allows moratorium on auto, home loan EMIs". The Hindu (अंग्रेज़ी में). Special Correspondent. 27 March 2020. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 28 March 2020.सीएस1 रखरखाव: अन्य (link)
  23. "Panic buying seen at shops after PM Modi's national lockdown announcement". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  24. "'Essentials Will be Available': PM Modi Wants You to Stop Panic Buying During 21-Day Curfew". News18. 2020-03-25. अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  25. Dwarakanath, Nagarjun. "Amazon stops taking new orders, Flipkart suspends services amid coronavirus lockdown". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 25 March 2020.
  26. www.ETtech.com. "Zomato, Swiggy ordered to shut down in several states - ETtech". ETtech.com (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-27.
  27. CNN, Priyali Sur and Ben Westcott. "Indian migrant workers face tough choice amid world's largest lockdown". CNN. अभिगमन तिथि 28 March 2020.
  28. "Coronavirus effect: India's electricity demand falls to 5-month low after lockdown". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 28 March 2020.
  29. "People throng vegetable market despite lockdown". The Hindu (अंग्रेज़ी में). Special Correspondent. 2020-03-25. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0971-751X. अभिगमन तिथि 2020-03-29.सीएस1 रखरखाव: अन्य (link)
  30. AuthorTelanganaToday. "Karimnagar: Minister unhappy over people not following social distancing norms". Telangana Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-29.
  31. Rizvi, Sumaira (2020-03-28). "Clapping to slapping — India did everything other than social distancing this week". ThePrint (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-03-29.
  32. "'I was extremely hurt...': Key highlights of PM Modi's Mann ki Baat address". Hindustan Times (अंग्रेज़ी में). 2020-03-29. अभिगमन तिथि 2020-03-29.
  33. "Lockdowns alone won't eliminate coronavirus: WHO to India". India Today (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 27 March 2020.