महात्मा गांधी सेतु पटना से हाजीपुर को जोड़ने को लिये गंगा नदी पर उत्तर-दक्षिण की दिशा में बना एक पुल है।[3] यह दुनिया का सबसे लम्बा, एक ही नदी पर बना सड़क पुल है।[4] इसकी लम्बाई 5,750 मीटर है। भारत की प्रधान मंत्री श्रीमती इंदिरा गाँधी ने इसका उद्घाटन मई 1982 में किया था। इसका निर्माण गैमोन इंडिया लिमिटेड ने किया था।[5] वर्तमान में यह राष्ट्रीय राजमार्ग 19 का हिस्सा है।

गाँधी सेतु
GandhiSetu1.jpg
Aerial view of Mahatma Gandhi Setu
निर्देशांक25°37′19.0″N 85°12′25.7″E / 25.621944°N 85.207139°E / 25.621944; 85.207139निर्देशांक: 25°37′19.0″N 85°12′25.7″E / 25.621944°N 85.207139°E / 25.621944; 85.207139
ले जाता हैNational Highway 22 and National Highway 31[1]
को पार करती हैGanga
स्थानीयPatna - Hajipur
आधिकारिक नामMahatma Gandhi Setu
अन्य नामGanga Setu
किसके नाम परMahatma Gandhi
रखरखावNational Highways Authority of India
विशेषता
डिजाइनGirder bridge
सामग्रीConcrete and steel
कुल लंबाई5.75 कि॰मी॰ (18,900 फीट)
चौड़ाई25 मी॰ (82 फीट)
स्पैन संख्या45
इतिहास
डिजाइनरGammon India
द्वारा निर्मितGammon India Limited
निर्माण शुरू1972
निर्माण बंद1982
शुरू हुआMay 1982
आँकड़े
टोलNo (revoked)[2]
महात्मा गाँधी सेतु।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Rationalisation of Numbering Systems of National Highways" (PDF). New Delhi: Department of Road Transport and Highways. मूल (PDF) से 1 फ़रवरी 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 May 2017.
  2. Madhuri Kumar (26 सितम्बर 2012). "Traffic eases on Gandhi Setu as Centre drops toll collection". Patna: The Times of India. मूल से 30 एप्रिल 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 मई 2017.
  3. "कभी रहा बिहार की शान, अब दु:स्‍वप्‍न बना गांधी सेतु". मूल से 22 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 21 अप्रैल 2017.
  4. "संग्रहीत प्रति". मूल से 26 जून 2012 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 जनवरी 2009.
  5. "गैमोन इंडिया लिमिटेड". मूल से 1 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 जून 2020.