मारुति सुज़ुकी सिलैरियो (अंग्रेजी: Maruti Suzuki Celerio) सुज़ुकी कम्पनी द्वारा भारत में बनायी गयी पूर्णत: ऑटोमेटिक सिटी कार है। पहले यह कार भारत में सुज़ुकी के मानेसर (हरियाणा) स्थित प्लाण्ट में मारुति सुज़ुकी ए-स्टार के नाम से दिसम्बर 2008 में लॉन्च की गयी थी। अन्तर्राष्ट्रीय बाज़ार में यही कार मारुति सुज़ुकी सिलैरियो के नाम से जानी जाती है।

मारुति सुज़ुकी सिलैरियो
2010-2011 Suzuki Alto (GF) GLX hatchback (2011-04-22).jpg
अवलोकन
निर्माण 2014
उद्योग मारुति सुजुकी, मानेसर, हरियाणा, भारत
बॉडी और चेसिस
श्रेणी सिटी कार
बॉडी स्टाइल 4 दरवाज़े
ख़ाका फ्रॉन्ट व्हील ड्राइव
पावरट्रेन
इंजन 998 सीसी (1 लिटर)
ट्रांसमिशन 4 स्पीड ऑटोमेटिक एवं 5 स्पीड मैनुअल
आयाम
व्हीलबेस 2425 मिमी
लंबाई 3600 मिमी
चौड़ाई 1600 मिमी
ऊँचाई 1560 मिमी
घटनाक्रम
इससे पहले ए-स्टार

ग्रेटर नोएडा में होने वाले ऑटो एक्सपो 2014 में लॉन्च होने वाली इस हैचबैक कार की एक्स शोरूम कीमत 3.0 से 5.5 लाख रुपये के बीच होने की सम्भावना व्यक्त की गयी थी। भारतीय ग्राहकों को ध्यान में रखकर बनायी गयी इस कार का औसत माइलेज एक लिटर पेट्रोल में 23.1 किलोमीटर का बताया जाता है।[1]

इज़ी ड्राइव नामक पूर्णत: भारतीय ऑटो गीयर शिफ्ट सिस्टम से युक्त इस कार में बार-बार गीयर बदलने का कोई झंझट नहीं रहेगा। शहरी यातायात के लिये इस छोटी कार का प्रयोग काफी सुगम होगा।[2]

मारुति सिलैरियो ग्रेटर नोएडा के ऑटो एक्सपो में 6 फरबरी 2014 को लॉन्च की गयी। इस कार की शुरुआती कीमत 3.90 लाख रुपये होगी।[3]

इतिहाससंपादित करें

अमरीका, फ्रांस, ब्रिटेन और जापान जैसे विकसित देशों में 90 प्रतिशत कारें ऑटोमेटिक हैं जबकि स्वतन्त्र भारत में 66 वर्ष के बाद भी अब तक सिर्फ़ 2 प्रतिशत कारें ही ऑटोमेटिक बन सकी हैं। वक़्त की नज़ाकत को भाँपते हुए भारत की दिग्गज कार निर्माता कम्पनी मारुति सुज़ुकी इण्डिया लिमिटेड ने प्रयोग के बतौर हरियाणा के मानेसर स्थित प्लाण्ट में मारुति सुज़ुकी ए-स्टार के नाम से एक ऑटोमेटिक कार दिसम्बर 2008 में लॉन्च की थी। कम्पनी इसे मारुति सिलैरियो के नाम से निर्यात करती थी।

देश में मारुति ऑल्टो कार की लोकप्रियता को देखते हुए मारुति सुजुकी ने काफी अनुसंधान के बाद इज़ी ड्राइव के नाम से पूर्णत: भारतीय ऑटो गीयर सिस्टम विकसित किया। इसकी खूबी यह थी कि यह सिस्टम कार के माइलेज की निरन्तरता (कॉन्टीन्यूटी) को एक समान बनाकर मेन्टेन रखता था। इसी सिस्टम के साथ ए-स्टार नाम की हैचबैक कार में पीछे से मारुति ऑल्टो का लुक देते हुए इन्टीरियर को और अधिक आरामदायक बनाते हुए मारुति सिलैरियो नाम से एक नयी हैचबैक सिटी कार बनायी गयी। इसके निर्माण से लेकर बाज़ार में उतारने तक मारुति सुज़ुकी इण्डिया लिमिटेड ने मध्यम वर्ग का विशेष ध्यान रक्खा और 6 फरबरी, 2014 को भारत में इस कार को उतार दिया।[4]

विशेषताएँसंपादित करें

सिलेरियो भारत में बनी पहली बिना क्लच और गीयर वाली मैनुअल ट्रांस्मिशन कार है जिसे ऑटोमेटेड गीयर बॉक्स कार कहा जाता है। निर्माता कम्पनी ने सेलेरियो के 6 वेरिएण्ट लॉन्च किये हैं - ऑटोमेटेड गीयर वाले 2 और मैनुअल के 4 जिनमें एक वेरिएण्ट ऑप्शनल रखा गया है। पेट्रोल इंजन से लैस यह कार 6 रंगों में उपलब्ध है। ईंधन की खपत को देखते हुए कम्पनी ने 23.1 किलोमीटर प्रति लीटर के माइलेज का दावा किया है।[5]

ऑटोमेटिक सिलैरियो की कीमतसंपादित करें

  • एलएक्सआई: 4.14 लाख[6]
  • वीएक्सआई: 4.43 लाख[6]

मैनुअल सेलेरियो की कीमतसंपादित करें

  • एलएक्सआई: 3.76 लाख[6]
  • वीएक्सआई: 4.20 लाख
  • जेडएक्सआई: 4.50 लाख
  • जेडएक्सआई (ऑप्शनल): 4.96 लाख

अन्य जानकारियाँसंपादित करें

इसमें 998 सीसी का के-10 बी एल्यूमीनियम इंजन है जिसमें 3 सिलेण्डर हैं। ऑटो गीयर सिस्टम में इजीड्राइव टेक्नॉलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। खाली कार का वजन 1250 किलोग्राम है। इसके फ्यूल टैंक में 35 लीटर पेट्रोल भरा जा सकता है। कार की लगेज कैपिसिटी 235 लीटर की है।

पानी की बोतल के लिये दो होल्डर हैं - एक आगे और एक पीछे। ग्लवबॉक्स इलेक्ट्रॉनिक पावर स्टीयरिंग के साथ इसके अगले पहियों के ब्रेक वेंटीलेटेड हैं जबकि पिछले पहियों में ड्रम ब्रेक रक्खे गये हैं।

सिलैरियो कार छह रंगों में बनायी गयी है - लाल, ग्रे, सिल्की सिल्वर, पर्ल व्हाइट, सनशाइन रे, केव ब्लैक और ब्लू।

सीएनजी माडल में भीसंपादित करें

इस कार का बाई फ्युअल माडल भी सिलैरियो ग्रीन के नाम से बाजार में आ गया है। सीएनजी मोड में एक किलोग्राम गैस में 31.79 किलोमीटर की दूरी तय करने वाले इस नये सीएनजी वर्जन की कीमत दिल्ली में 4.68 लाख रूपये रखी गयी है।[7]

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें