मेंथा नदी अथवा मेंढा नदी भारतीय राज्य राजस्थान में ऋतुकालिक (सीजनल) रूप से बहने वाली एक नदी है। इसका उद्गम जयपुर जिले के नीम थाना[1] से होता है और जयपुर जिले में बहने के पश्चात् यह नागौर जिले में बहती हुई साम्भर झील में विलीन हो जाती है।

ऐतिहासिक महत्व

संपादित करें

मेंढा नदी पर राव शेखा की नगरी अमरसरवाटी या अमरसर स्थित थी। लेकिन उत्तरी भाग से माधोबेणी नदी बहती हुई बाणगंगा नदी में ताला-दौला स्थान पर मिल जाती है मेंढा नदी एंव माधोबेणी नदी का उद्गम स्थल होने से यहाँ उत्खात स्थलाकृतिया मिलती है[2] मेंढा नदी घाटी पर गोविन्दगढ कस्बे में प्रसिद्ध तोरण बावड़ी एंव हस्तेडा गाँव मे प्राचीनतम जैन अतिशय मंदिर भी है [3]मेंढा नदी पर ही जयपुर जिले के सिंगोद कला गाँव मे पुरातत्वीक अवशेष व प्राचीनतम मंदिरों के अवशेष प्राप्त होते है जो वैष्णव एंव जैन धर्म से संबंधित है।[4] नागौर जिले के लूणवा गाँव में इस नदी के किनारे लूणवा जैन तीर्थ स्थित है।[5]

  1. "मेंढा नदी के पास स्थित थी राव शेखा की नगरी अमरसरवाटी". दैनिक भास्कर. अभिगमन तिथि 17 अक्टूबर 2022.
  2. "तीन दशक पहले बहती थी मेंढा नदी". राजस्थान पत्रिका. अभिगमन तिथि 13 मार्च 2018.
  3. "तोरण बावडी पर्यटन केंद्र बन सकता है". राजस्थान पत्रिका. अभिगमन तिथि 13 मार्च 2018.
  4. "तीन दशक पहले बहती थी मेंढा नदी". राजस्थान पत्रिका. अभिगमन तिथि 13 मार्च 2018.
  5. "राजस्थान: आंतरिक जलप्रवाह प्रणाली". राज आरएएस. मूल से 17 अक्तूबर 2022 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 अक्टूबर 2022.