नागौर

नागौर राजस्थान का एक आदर्श जिला है।

निर्देशांक: 27°12′N 73°44′E / 27.2°N 73.73°E / 27.2; 73.73 नागौर (अंग्रेज़ी: Nagaur) भारत के राजस्थान राज्य के नागौर ज़िले में स्थित एक नगर है, यह ज़िले का मुख्यालय भी है।[1][2] यह अपने धार्मिक स्थलों के लिए प्रसिद्ध है।

नागौर
—  शहर  —
नागौर का किला
नागौर का किला
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य राजस्थान
MLA मोहनराम चौधरी
जनसंख्या 1,10,797 (2011 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 302 मीटर (991 फी॰)

परिचयसंपादित करें

नागौर एक लोकसभा क्षेत्र भी है। इसके ज़िले की सीमा 7 जिलों बीकानेर, जोधपुर, सीकर, अजमेर, चूरू, जयपुर व पाली से लगती है। नागौर विशेष रूप में प्रत्येक वर्ष लगने वाले पशु मेले के लिए काफी प्रसिद्ध है। नागौरी बैल भारत में प्रसिद्ध है। इस मेले में हर साल काफी संख्या में पर्यटक भी आते हैं। इसके अतिरिक्त यहां कई महत्वपूर्ण मंदिर और स्मारक भी है। यहां के लोग ज्यादातर खेती करते है। यहाँ मूंग, बाजरी, तिलहन तथा कपास और मसाला मेथी की खेती होती है। यह जिला मेथी के लिये प्रसिद्ध है।

नागौर जिले में एक पीलवा नाम का गांव है खास बात यह है कि राजस्थान में इस नाम से और भी गांव है। इस गांव में काफी माहेश्वरी (जात)भी हैं जिनमें जाजू मुख्य हैं।

नागौर के मकराना मे विश्व प्रसिद्ध मार्बल(सफेद संगमरमर) निकलता है यहाँ के मार्बल पत्थर से ही शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण करवाया था उत्तर भारत मे इतिहासिक मन्दिरों, गुरूद्वारो मे इसी नागौर के पत्थर का उपयोग किया है पंजाब के स्वर्ण मंदिर मे भी मकराना नागौर के मार्बल का उपयोग किया है, नागौर जाट बाहुल्य क्षैत्र है राजनैतिक दृष्टि से नागौर राजस्थान की राजनीति का केन्द्र है यहाँ हमेंशा जाटों ने भारत व राजस्थान की राजनीति मे अपना वर्चस्व रखा।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

इतिहाससंपादित करें

वर्तमानकाल में नागौर राजस्थान का एक छोटा सा शहर है लेकिन ऐतिहासिक रूप से भी यह जगह काफी महत्वपूर्ण है। इसका पुराना नाम अहिछत्रपुर था। नागौर दुर्ग भारत के प्राचीन क्षत्रियों द्वारा बनाये गये दुर्गों में से एक है। माना जाता है कि इस दुर्ग के मूल निर्माता नाग क्षत्रिय थे। नाग जाति महाभारत काल से भी कई हजार साल पुरानी थी। यह आर्यों की ही एक शाखा थी तथा ईक्ष्वाकु वंश से किसी समय अलग हुई।

नागौर जिले में धार्मिक स्थलसंपादित करें

  • कालका माता का मंदिर असावरी गाँव
  • वीर तेजाजी का मन्दिर खरनाल गाँव
  • संत लिखमिदास जी महाराज मंदिर अमरपुरा गाँव
  • चतुरदासजी महाराज मंदिर बुटाटी गाँव
  • हरीराम जी महाराज मंदिर झोरङा गाँव
  • मीरा बाई मन्दिर मेङता गाँव
  • दधिमती माता मंदिर गोठ मागलोद गाँव जायल
  • सूफी हमीदुद्दीन नागौरी दरगाह
  • बड़े पीर साहब गोस पाक की दरगाह

आवागमनसंपादित करें

हवाई अड्डा

सबसे नजदीकी हवाई अड्डा जोधपुर विमानक्षेत्र है। यह जगह नागौर से 135 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

रेल मार्ग

नागौर का सबसे बङा रेल्वे स्टेशन मेड़तारोड़ का है। सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन नागौर में है।

सड़क मार्ग

नागौर के लिए सीधी बस-सेवा है। दिल्ली, अहमदाबाद, अजमेर, आगरा, जयपुर, जैसलमैर और उदयपुर से बस-सेवा की सुविधा उपलब्ध है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990