मुख्य मेनू खोलें

मेरे अपने (1971 फ़िल्म)

हिन्दी भाषा में प्रदर्शित चलवित्र

मेरे अपने १९७१ में गुलज़ार द्वारा रचित व निर्देशित हिंदी फ़िल्म है। यह फ़िल्म बांगला फ़िल्म 'आपनजन' का हिंदी रूपांतर है[1] जिसमें मुख्य भूमिका मीना कुमारी, विनोद खन्ना, शत्रुघन सिन्हा, देवेन वर्मा, पेंटल, असित सेन, असरानी, डैनी डेन्जोंगपा, कैस्टो मुखर्जी, ए के हंगल, दिनेश ठाकुर, महमूद और योगिता बाली ने निभायी है।

मेरे अपने
मेरे अपने.jpg
मेरे अपने का पोस्टर
निर्देशक गुलज़ार
निर्माता एन सी सिप्पी,
राज एन सिप्पी,
रोमू एन सिप्पी
लेखक गुलज़ार
पटकथा गुलज़ार
अभिनेता मीना कुमारी,
विनोद खन्ना,
शत्रुघन सिन्हा,
देवेन वर्मा,
रमेश देव,
अभि भट्टाचार्य,
असित सेन,
लीला मिश्रा,
पेंटल,
असरानी,
डैनी डेन्जोंगपा,
दिनेश ठाकुर,
संगीतकार सलिल चौधरी
गुलज़ार (गीत)
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1971
देश भारत
भाषा हिन्दी

अनुक्रम

संक्षेपसंपादित करें

आनंदी देवी (मीना कुमारी) एक बूढ़ी विधवा है जो अपने गाँव में रहती है। एक दिन अरुण गुप्ता (रमेश देव), जो अपने को उसका दूर का रिश्तेदार कहता है, शहर आकर उसके साथ रहने की विनती करता है। शहर में वह अपनी पत्नी लता (सुमिता सान्याल) और एक बच्चे के साथ रहता है। जब आनंदी देवी को पता चलता है कि अरुण एक नौकरानी लाया है और वह विरोध करती है तो उसे घर से निकाल दिया जता है। बाद में वह एक बालक के साथ रहती है जो भीख माँगता है। अपने अच्छे स्वभाव के कारण वहां लोग उसे नानी माँ कहते हैं। वहाँ श्याम (विनोद खन्ना) और चैनु (शत्रुघन सिन्हा) के नेतृत्व में युवकों की टोलियाँ है जो आपस में लड़ते हैं। आखिर एक दिन इसी लड़ाई में नानी माँ भी गोली का शिकार हो जाती है।

चरित्रसंपादित करें

मुख्य कलाकारसंपादित करें

दलसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत गुलज़ार द्वारा लिखित; सारा संगीत सलिल चौधरी द्वारा रचित।

गाने
क्र॰शीर्षकगायनअवधि
1."कोई होता जिसको अपना"किशोर कुमार3:27
2."रोज़ अकेली आई"लता मंगेशकर3:20
3."हाल चाल ठीक ठाक है"किशोर कुमार, मुकेश3:26

रोचक तथ्यसंपादित करें

परिणामसंपादित करें

बौक्स ऑफिससंपादित करें

समीक्षाएँसंपादित करें

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

उल्लेखसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें