मुख्य मेनू खोलें

मैनपुरी

Mainpuri land of village but important village are Jasrau anjani karimganj jasrau it's name was very ancient king name jasdev

निर्देशांक: 27°14′N 79°01′E / 27.23°N 79.02°E / 27.23; 79.02 मैनपुरी भारत में उत्तर प्रदेश के आगरा मण्डल का एक प्रमुख शहर एवं लोकसभा क्षेत्र है। किलों के लिए प्रसिद्ध मैनपुरी उत्तर प्रदेश राज्य का एक जिला है। अकबर औछा, अम्बरपुर वेटलैंड, समान वन्यजीव अभ्यारण, बर्नहाल और करीमगंज आदि यहां के प्रमुख स्थलों में से है। ऐतिहासिक दृष्टि से भी यह स्थान काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। यह जिला इत: जिले के उत्तर, फरूखाबाद एवं कन्नौज जिले के पूर्व, इटावा जिले के दक्षिण और फिरोजाबाद जिले के पश्चिम से घिरा हुआ है। मैनपुरी जिले का इतिहास प्रागैतिहासिक काल से ही है। मैनपुरी और उसके आस-पास की जगह पर कन्नौज के शासकवंश का शासन था। 1526 के दौरान यहां पर मुगल शासक बाबर, अठाहरवीं शताब्दी में मराठों और फिर अवध के नवाब वजीर ने शासन किया था। अंत में 1801 ई. में यहां ब्रिटिश शासकों ने शासन किया। मैनपुरी जिला कृषि उत्पादों का प्रमुख व्यावसायिक केन्द्र है।

मैनपुरी
—  शहर  —
मैनपुरी की एक सड़क का दृश्य
मैनपुरी की एक सड़क का दृश्य
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य उत्तर प्रदेश
ज़िला मैनपुरी
जनसंख्या 89,535 (2001 के अनुसार )
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)

• 153 मीटर (502 फी॰)

अकबरपुर औछासंपादित करें

मैनपुरी जिले के पश्चिम से अकबरपुर औछा गांव लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर है। इस जगह का नाम शासक अकबर के नाम पर रखा गया है। अपने शासन काल के दौरान अकबर ने यहां एक किले का निर्माण भी करवाया था। इसके अतिरिक्त यहां कई हिन्दू मंदिर भी है। जिसके से एक ऋषि स्थान है जिसका निर्माण फरूखाबाद के चौधरी जय चंद ने करवाया था। यह मंदिर काफी प्राचीन है। प्रत्येक वर्ष जुलाई माह में यहां चमन ऋषि की याद में मेले का आयोजन किया जाता है। काफी संख्या में लोग इस मेले में सम्मिलित होते हैं।

विक्रम शिक्शा निकेतनसंपादित करें

यह विदयालय मैनपुरी जिले से १३ किलोमीटर की दूरी पर है। इस जगह एक बहुत सुन्दर आस्र्म है जिसका नाम है गोपाल आश्रम है। इस विदयालय में १ से १२ तक की शिक्षा दी जाती है।

भोगाँवसंपादित करें

भोगाँव शहर मैनपुरी के पूर्व से 14 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। माना जाता है कि इस शहर की स्थापना राजा भीम ने की थी। उन्ही के नाम पर इस जगह का नाम भीमगांव अथवा भीमग्राम रखा गया। पहले समय में यह जगह अकबर के अधीन थी और भीमगांव परगना का मुख्यालय था। यहां का कुल क्षेत्रफल 0.44 वर्ग किलोमीटर है। इस जगह के समीप पर ही महादेव का प्रसिद्ध मंदिर स्थित है। यहां श्रद्धालुओ के लिए सराय और रहने की सुविधा भी प्रदान की गई है। इसके अलावा शहर के पठान क्वॉटर के केन्द्र में एक मस्जिद भी है। इस मस्जिद की विशेषता यह है कि इस मस्जिद के चारों ओर बनी ऊंची दीवारें और गहराई में बना तीर के आकार का रास्ता है।

करीमगंजसंपादित करें

मैनपुरी जिले से करीमगंज लगभग नौ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस जगह पर एक किला है जिसका सम्बन्ध खान बहादुर खान से है। इस जगह पर खान बहादुर रहा करते थे। यह किला लगभग दो शताब्दी पूर्व का है। इस गांव का क्षेत्रफल 1,656 हेक्टेयर है।

बरनाहलसंपादित करें

यह कस्बा करहल के पश्चिम से 16 किलोमीटर और मैनपुरी के दक्षिण से 32 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस कस्बे का क्षेत्रफल 635 हेक्टेयर है। प्रत्येक वर्ष राम नवमी के अवसर पर यहां मेले का आयोजन किया जाता है। कृषि यहां के लोगों का प्रमुख व्यवसाय है। यह दिहुली व नवाटेड़ा के बीच में स्थित है। इस के पूर्व में जाफरपुर गाँव है व 2 किलोमीटर दूर एमाहसन नगर गाँँव है। विकास खंड बरनाहल में शिक्षा संस्थान ज्ञानदीप पब्लिक इंटर कॉलेज है

समान वन्यजीव अभ्यारणसंपादित करें

मैनपुरी जिला स्थित समान वन्यजीव अभ्यारण पांच किलोमीटर के क्षेत्र में फैला हुआ है। इस अभ्यारण का निर्माण 1990 ई. में हुआ था। इस अभ्यारण में पक्षियों की कई प्रजातियां देखी जा सकती है। यहां घूमने का सबसे उचित समय दिसम्बर से फरवरी है।

अम्बरपुर वेटलैंडसंपादित करें

मैनपुरी जिला स्थित अम्बरपुर वेटलैंड करहल-किशनी मार्ग पर स्थित है। इस जगह पर विश्व के सबसे लम्बे उड़ने वाले 400 सारस मौजूद है। इसके समीप पर ही कुदिईया वेटलैंड स्थित है।

बेवरसंपादित करें

बरेली-इटावा मार्ग पर स्थित बेवार शहर मैनपुरी के पूर्व से 27 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस जगह का क्षेत्रफल सिर्फ 0.35 वर्ग किलोमीटर है। यह जगह छिबरामऊ से करिब २१ किलोमीटर दूर है। आगरा से बेवर की दूरी करीब ४ घंटे की है। बेवर से कुसमरा होते हुए रामनगर मार्ग ४ किमी पर हिरौली नामक गाव है। यहां प्रतिवर्ष बेवर थाने के अमर शहीदों (कृष्ण कुमार, जमुना प्रसाद त्रिपाठी और सीताराम गुप्त) [1][2]) की स्मृति और भारतीय स्वाधीनता संग्राम के क्रान्तिकारियों और स्वाधीनता सेनानियों को श्रद्धा-सुमन अर्पित करने हेतु शहीद मेला का आयोजन होता है|[3][4]

Parwatpurसंपादित करें

mainpuri shahar se 7.5km doori par sthiti hai or is ganv main sadko ke madhyam se pahucha ja sakta hai yah ganv mainpuri se kishmi road par hai.

आवागमनसंपादित करें

वायु मार्ग

सबसे निकटतम हवाई अड्डा आगरा विमानक्षेत्र है।

रेल मार्ग

भारत के प्रमुख शहरों से रेलमार्ग द्वारा मैनपुरी पहुंचा जा सकता है। सबसे नजदीकी रेलवे स्टेशन इटावा है। यह जगह शहर के दक्षिण-पूर्व से 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

सड़क मार्ग

मैनपुरी सड़कमार्ग द्वारा भारत के कई प्रमुख शहरों से आसानी से पहुंचा जा सकता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सलेमपुर पढीना:यहां नागदेव का पृसिध्द मन्दिर है जहां प्रत्येक सोमवार को श्रृध्दालुओ की भीड़ लगी रहती है ये मन्दिर भोगांव से दक्षिण दिशा में ५किमी की दूरी पर है

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें