इन फसलों की बुआई के समय कम तापमान तथा पकते समय शुष्क और गर्म वातावरण की आवश्यकता होती है। ये फसलें सामान्यतः अक्तूबर-नवम्बर के महिनों में बोई जाती हैं, और मार्च-अप्रैल में काटी जाती है। इनमें सामान्यतः निम्न फसलें आती हैं- आलू, सरसों, राई, जौ, चना, मटर तथा गेहूं आदि।

उदाहरणसंपादित करें

 
गेहूँ


  1. {[तारामीरा]}

इन्हें भी देखेंसंपादित करें