रसायनाहारी (Chemotroph) ऐसे जीव होते हैं जो अपने पर्यावरण में उपस्थित इलेक्ट्रॉन दाता रसायनों का ऑक्सीकरण करके ऊर्जा प्राप्त करते हैं। यह प्रकाशाहारी जीवों से भिन्न हैं, जो प्रकाश से ऊर्जा प्राप्त करते हैं। भिन्न रसायनाहारी कार्बनिक या अकार्बनिक यौगिकों से ऊर्जा प्राप्त कर सकते हैं। रसायनाहारी अक्सर समुद्र के फ़र्श पर मिलते हैं, जहाँ सूरज का प्रकाश नहीं पहुँचता और सदैव अंधेरा रहता है। यहाँ पर स्थित सागरगत ज्वालामुखी से गरमी और रसायन प्राप्त कर के अक्सर रसायनाहारियों की कोलोनियाँ बन जाती हैं।[1]

अटलांटिक महासागर में एक जलतापीय छिद्र जो रसायनाहारियों को ऊर्जा और पोषक तत्व प्रदान करता है

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Chang, Kenneth (12 September 2016). "Visions of Life on Mars in Earth's Depths". New York Times. मूल से 12 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 12 September 2016.