राजकुमार हेनरी, ग्लॉस्टर के ड्यूक

राजकुमार हेनरी विलियम फ़्रेडरिक अॅल्बर्ट, ग्लॉस्टर के ड्यूक (अंग्रेज़ी: Prince Henry, Duke of Gloucester ) जॉर्ज पंचम और रानी मैरी, की सबसे छोटी संतान और तीसरे पुत्र थे। उनका जन्म, 31 मार्च 1900 में हुआ था। अपने जन्म के समय वे, राजगद्दी के अनुक्रम में पाँचवे स्थान पर थे।

उनकी शाही महिमा
राजकुमार हेनरी विलियम फ़्रेडरिक अॅल्बर्ट
ग्लॉस्टर के ड्यूक
Dukeofgloucester.jpg
राजकुमार हेनरी

कार्यकाल
30 जनवरी 1945-11 मार्च 1947
पूर्वा धिकारी ब्रिगेडियर जनरल एॅलेक्ज़ॅण्डर गोर आर्कराइट होर-रद़्वेन, प्रथम बॅरन गाओरी
उत्तरा धिकारी विलियम जोज़ेफ़ मैक्कॅल

जन्म 31 मार्च 1900
याॅर्क काॅटेज, सैंड्रिंघम
मृत्यु 10 जून 1974
राष्ट्रीयता ब्रिटिश
धर्म इसाई धर्म

जीवनीसंपादित करें

वे पेशे से एक सैनिक थे, और अपने व्यवसायिक जीवन के दौरान, उन्होंने ब्रिटिश साम्राज्य की सेवा में, विश्व भर में विस्तृत विभिन्न ब्रिटिश उपनिवेशों में, अन्य विभिन्न पदों पर अपनी सेवा दी थी। इसके अलावा, उन्हें 30 जनवरी 1945 से 11 मार्च 1947 के बीच, महाराज जॉर्ज षष्ठम् द्वारा, ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर-जनरल यानि महाराज्यपाल के पद पर नियुक्त किया गया था। इस काल के दौरान वे, महाराज के प्रतिनिधि के रूप में, उनकी अनुपस्थिति के दौरान शासक के कर्तव्यों का निर्वाह करते थे। वे रानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के भावी प्रतिशासक भी थे।

10 जून वर्ष 1974 को उनका निधन हो गया। वे महाराज जार्ज और मैरी के अंतिम जीवित संतान थे।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें