राजा ऍडवर्ड की कुर्सी

राजा ऍडवर्ड की कुर्सी (अंग्रेज़ी: King Edward's chair) जिसे संत ऍडवर्ड की कुर्सी और राज्याभिषेक कुर्सी (coronation chair) भी कहा जाता है, एक लकड़ी का बना सिंहासन है जिसपर ब्रिटेन के सम्राटों का राज्याभिषेक होता है। इसका निर्माण 1296 ई॰ में राजा ऍडवर्ड प्रथम ने करवाया था। उन्होने इसमें एक विशेष ख़ाना बनवाया जिसमें स्कून का पत्थर (Stone of Scone, स्टोन ऑफ़ स्कून) रखा जाता है। यह पत्थर स्कॉटलैण्ड के राजाओं के राज्याभिषेक के लिए इस्तेमाल होता है और इसे ऍडवर्ड प्रथम स्कॉट लोगों से छीन कर लाये थे। यह कुर्सी लन्दन के प्रसिद्ध वॅस्टमिन्स्टर ऐबी नामक गिरजे में रखी जाती है। सन् 1308 के बाद सारे ब्रिटिश सम्राटों का राज्याभिषेक इसी कुर्सी पर हुआ है, सिवाय मेरी प्रथम और मेरी द्वितीय के।

राज्याभिषेक कुर्सी, जिसमें नीचे स्कून का पत्थर रखा हुआ है

स्कून का पत्थरसंपादित करें

जब से इंग्लैण्ड ने स्कॉटलैण्ड पर क़ब्ज़ा करके उसका ब्रिटिश साम्राज्य में विलय कर लिया तब से स्कॉटलैण्ड में विद्रोह की भावना चलती रही है - जो कभी मध्यम हो जाती है और कभी तीव्र। स्कून के पत्थर की लन्दन में मौजूदगी को बहुत से स्कॉट लोग अपनी गुलामी का प्रतीक मानते थे। इसलिए सन् 1996 में इन स्कॉटी भावनाओं को ध्यान में रखते हुए अंग्रेज़ी सरकार ने फैसला किया के स्कून का पत्थर स्कॉटलैण्ड में रखा जाएगा और लन्दन तभी लाया जाएगा जब किसी नए महाराज या महारानी का राज्याभिषेक होना हो।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें