रायसिंहनगर

भारत के राजस्थान का एक शहर

रायसिंहनगर (Raisinghnagar) भारत के राजस्थान राज्य के श्रीगंगानगर ज़िले में स्थित एक नगर और नगर पालिका है।[1][2]

रायसिंहनगर
Raisinghnagar
रायसिंहनगर is located in राजस्थान
रायसिंहनगर
रायसिंहनगर
राजस्थान में स्थिति
निर्देशांक: 29°32′02″N 73°26′53″E / 29.534°N 73.448°E / 29.534; 73.448निर्देशांक: 29°32′02″N 73°26′53″E / 29.534°N 73.448°E / 29.534; 73.448
देश भारत
प्रान्तराजस्थान
ज़िलाश्रीगंगानगर ज़िला
ऊँचाई160 मी (520 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल28,330
भाषा
 • प्रचलित भाषाएँराजस्थानी, पंजाबी, हिन्दी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड335051
दूरभाष कोड01507
वाहन पंजीकरणRJ-13

विवरणसंपादित करें

रायसिंहनगर २५२ मीटर (८३० फीट) की औसत ऊंचाई पर स्थित है। इसका क्षेत्रफल लगभग ०५ वर्ग किलोमीटर है। शहर का उ.पू. भाग सिंचित है जबकि दक्षिण पश्चिमी भाग कुछ रेतीला समतल है। यहां गंगनहर के पानी से सिंचाई होती है।

इतिहाससंपादित करें

यह शहर पहले पंवार समुदाय के बहुमत के कारण "पंवारसर" नाम से जाना जाता था। यह शहर पूर्णतया २०वीं सदी की देन हैं। इसके पुराने नाम 'पंवारसर' से ही इसके पास से गुजरने वाली नहर का नाम भी "पीएस वितरिका" रखा गया था। लेकिन बाद में राजा रायसिंह के नाम पर शहर का नाम "रायसिंहनगर" कर दिया गया। श्री गंगानगर जिले के शहरों व तहसीलों के नाम तत्कालीन बीकानेर रियासत के राजाओं के नाम पर रखें गये है। रायसिंहनगर का रेलवे स्टेशन भारत के लिए पाकिस्तान से रेल लाइन का पहला स्थानक (स्टॉप) था। यहां स्वतंत्रता सेनानी बीरबल सिंह ढालिया का स्मारक है जिन्होंने अंग्रेजों व बीकानेर रियासत के विरोध में तिरंगा लहराया था और फिर पुलिस की गोली खाकर शहीद हुए थे।

जनसांख्यिकीसंपादित करें

२०११ की भारत की जनगणना के अनुसार रायसिंहनगर की जनसंख्या २८,३३० है। रायसिंहनगर नगरपालिका में कुल जनसंख्या में पुरुष ५३.२५% और महिलाएँ ४६.७५% है। रायसिंहनगर की औसत साक्षरता दर ६०% है। जिसमें पुरुष साक्षरता ७४% है और महिला साक्षरता ६०% है। रायसिंहनगर में, कुल जनसंख्या के १५% की उम्र ६ वर्ष से कम है।[3]

धर्मसंपादित करें

नगर में सर्वाधिक ८७.२१% हिंदू , १०.२४% सिक्ख और १.५१% मुसलमान व १.०४% अन्य समुदाय निवास करते हैं। हिंदुओं में प्रमुख समुदाय नायक, मेघवाल, अग्रवाल, बरनवाल, जीनगर , खंडेलवाल, कुमावत (क्षत्रिय), महेश्वरी, कुम्हार, सुनार, नाई(सैन), बिश्नोई, सुथार, बावरी, मजबी,ब्राह्मण, सिकलीगर लुहार, आदि हैं। सिक्खों की भी कई जातियां निवास करती हैं।[4]

शैक्षिक संस्थानसंपादित करें

यह शहर अपने शुरुआती काल से ही शिक्षा का एक केंद्र रहा है। कई प्रमुख शिक्षा संस्थानों में शामिल हैं।

  • धींगडा क्लासेज़ , रायसिंहनगर - यह संस्थान बैंकिंग प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए पूरे भारत में प्रसिद्ध है।[5]
  • शहीद भगत सिंह कॉलेज
  • एमडी गर्ल्स कॉलेज
  • सरकार ने वरिष्ठ माध्यमिक गर्ल्स स्कूल
  • राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय- रायसिंहनगर
  • डीएवी स्कूल
  • विवेकानंद मेमोरियल पब्लिक स्कूल|विवेकानन्द मेमोरियल पब्लिक स्कूल
  • गुरु हर कृष्ण पब्लिक स्कूल
  • माता गुजरी गर्ल्स स्कूल
  • शाइनिंग स्टार पब्लिक स्कूल
  • मॉडर्न पब्लिक स्कूल
  • भारत मॉडल स्कूल
  • सार्वभौमिक शिक्षा केंद्र.
  • डीएवी टी.टी. कॉलेज (बी.एड.)
  • पारीक कंप्यूटर शिक्षा समिति
  • सेठ धरमचंद इंस्टिट्यूट ऑफ़ टीचर्स ट्रेनिंग
  • केंद्रीय विद्यालय (बीएसएफ)
  • एमपीएस कॉलेज ऑफ़ टेक्निकल एजुकेशन

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Lonely Planet Rajasthan, Delhi & Agra," Michael Benanav, Abigail Blasi, Lindsay Brown, Lonely Planet, 2017, ISBN 9781787012332
  2. "Berlitz Pocket Guide Rajasthan," Insight Guides, Apa Publications (UK) Limited, 2019, ISBN 9781785731990
  3. "भारत की जनगणना २००१: २००१ की जनगणना के आँकड़े, महानगर, नगर और ग्राम सहित (अनंतिम)". भारतीय जनगणना आयोग. अभिगमन तिथि 2007-09-03.
  4. "भारत की जनगणना २००१: २००१ की जनगणना के आँकड़े, महानगर, नगर और ग्राम सहित (अनंतिम)". भारतीय जनगणना आयोग. अभिगमन तिथि 2007-09-03.
  5. [1]