मुख्य मेनू खोलें

गंगा नदी से गुजरने वाले 1680 किलोमीटर लंबे इलाहाबाद-हल्दिया जलमार्ग को जल मार्ग विकास परियोजना (जेएमवीपी) के तहत भारत में राष्ट्रीय जलमार्ग संख्या-१ का दर्जा दिया गया है।[1] गंगा नदी का प्रयोग नागरिक यातायात तथा भारवहन के लिए के लिए काफी समय से किया जाता रहा है। इस जलमार्ग पर स्थित प्रमुख शहर इलाहाबाद, वाराणसी, मुगलसराय, सारण, बक्सर, आरा, पटना, मोकामा, बाढ, मुंगेर, भागलपुर, फरक्का, कोलकाता तथा हल्दिया है।[2][3] देश में जल परिवहन को बढावा देने के लिए स्थापित एकमात्र राष्ट्रीय अंतर्देशीय नौकायन संस्थान इस जलमार्ग पर बसे पटना के गायघाट में स्थित है।

राष्ट्रीय जलमार्ग 1 (NW-1)
Bhavya - Vijai Marine 71 - General Cargo - IMO 9664603 - River Hooghly 2013-04-08 6054.JPG
A ship in National Waterway 1
Details
LocationIndia
Openedअक्टूबर 27, 1986; 32 वर्ष पहले (1986-10-27)
Length1,620 कि॰मी॰ (1,010 मील)
North endPrayagraj
South endHaldia(sagar)
No. of terminals18 Floating Terminal
2 Fixed RCC Jetty
OwnerInland Waterways Authority of India (IWAI)
OperatorCentral Inland Water Transport Corporation (CIWTC)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "देश में अंतर्देशीय जलमार्गों के विकास की स्थिति".
  2. "IWAI: National Waterways project to generate employment in state".
  3. "Cabinet approves Jal Marg Vikas Project for enhanced navigation on the Haldia-Varanasi stretch of National Waterway-1".