रेल मंत्रालय, भारत में रेलों के निर्माण और परिवहन को नियंत्रित करने वाला भारत सरकार का एक महत्वपूर्ण मंत्रालय है। भारतीय रेल का प्रभार इसी मंत्रालय के पास है। पीयूष गोयल भारत के वर्तमान रेल मंत्री हैं।[1]

भारत गणराज्य
रेल मंत्रालय
भारत का राष्ट्रीय चिह्न
भारत का राष्ट्रीय चिह्न
संस्था अवलोकन
अधिकार क्षेत्र भारत गणराज्य
मुख्यालय रेल भवन, नई दिल्ली
उत्तरदायी मंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय कैबिनेट रेल मंत्री
वेबसाइट
www.indianrailways.gov.in

संगठनात्मक संरचनासंपादित करें

एक केबिनेट और दो राज्य मंत्रियों को मिलाकर रेलवे के पास कुल तीन मंत्री हैं। भारतीय रेल का शीर्ष निकाय रेलवे बोर्ड, रेल मंत्रालय के आधीन आता है। रेलवे बोर्ड, एक अध्यक्ष और कई "रेलवे बोर्ड के सदस्य" द्वारा गठित होता है।[2] कई निदेशालय रेलवे बोर्ड के आधीन आते हैं। रेल मंत्रालय का मुख्यालय नई दिल्ली में स्थित रेल भवन है।

रेल बजटसंपादित करें

ऐतिहासिक कारणों से प्रत्येक वर्ष भारत का केन्द्रीय रेल मंत्री, भारत के आम बजट से अलग, रेल बजट प्रस्तुत करता है। इस प्रथा की शुरुआत 1924 में हुई थी जिस समय देश के कुल बजट का 70% रेल बजट होता था। इस प्रकार रेल बजट को आम बजट से अलग कर बजट की प्रत्येक प्राथमिकताओं पर समुचित ध्यान दिया जा सकता था। आज भारत का रेल बजट भारत के राष्ट्रीय बजट का लगभग 15% है। रेल बजट के द्वारा नई रेल सेवाओं, किरायों और शुल्कों में परिवर्तन आदि की घोषणा की जाती है। प्रत्येक वर्ष, रेलवे बजट देखने के लिए उपलब्ध कराया जाता है।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Kharge takes charge as new Railway Minister". Businessline. अभिगमन तिथि जुलाई ७, २०१३.
  2. [1] Corporate Overivew of Indian Railways Ministry

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें