यह प्राचीन भारत में शासन करने वाले शुंग राजवंश का शाशक था।

वसुमित्र प्रसिद्ध बौद्ध दार्शनिक तथा लेखक था। वह कुषाण सम्राट कनिष्क का समकालीन था। इतिहास प्रसिद्ध बौद्ध संगीतियों में से चौथी संगीति का सभापतित्व वसुमित्र ने किया था। कनिष्क के शासन काल में चौथी बौद्ध संगीति कश्मीर के 'कुण्डलवन' में आयोजित की गई थी। इस संगीति के अध्यक्ष वसुमित्र एवं उपाध्यक्ष अश्वघोष थे। अश्वघोष कनिष्क का राजकवि था। इन्हें भी देखें: बौद्ध संगीति, अश्वघोष एवं बौद्ध hue antiyakas me ak dut bhagbhadra ke darbar me bheja