"थाईलैण्ड" के अवतरणों में अंतर

72 बैट्स् नीकाले गए ,  9 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छो (Smeatteams ने थाईलैण्ड पृष्ठ श्यामदेश पर स्थानांतरित किया)
| native_name = राज आणाचक्र थाई
| conventional_long_name = ราชอาณาจักรไทย <br />
| common_name = श्यामदेशथाईलैण्ड
| image_flag = Flag of Thailand.svg
| image_coat = Garuda Emblem of Thailand.svg
| footnote2 = {{note|2}}According to the Department of Provincial Administration's [http://www.dopa.go.th/stat/y_stat50.html official register,] not taking into account unregistered citizens and immigrants.
}}
'''श्यामदेशथाईलैण्ड''' (थाईलैण्ड) जिसका प्राचीन भारतीय नाम ''श्याम्देश'' है दक्षिण पूर्वी [[एशिया]] में एक देश है । इसकी पूर्वी सीमा पर [[लाओस]] और [[कम्बोडिया]], दक्षिणी सीमा पर [[मलेशिया]] और पश्चिमी सीमा पर [[म्यानमार]] है। श्यामदेशथाईलैण्ड को '''सियाम''' के नाम से भी जाना जाता है जो [[११ मई]], [[१९४९]] तक श्यामदेशथाईलैण्ड का अधिकृत नाम था। ''थाई'' शब्द का अर्थ [[थाई भाषा]] में आज़ाद होता है। यह शब्द [[थाई नागरिक|थाई नागरिको]] के सन्दर्भ में भी इस्तेमाल किया जाता है । इस वजह से कुछ लोग विशेष रूप से यहाँ बसने वाले चीनी लोग, श्यामदेशथाईलैंड को आज भी ''सियाम'' नाम से पुकारना पसन्द करते हैं। श्यामदेशथाईलैण्ड की राजधानी [[बैंकाक]] है|
 
== इतिहास ==
{{main|थाईलैण्ड का इतिहास}}
आज के थाई भू भाग में मानव पिछले कोई १०,००० वर्षों से रह रहें हैं। [[ख्मेर साम्राज्य]] के पतन के पहले यहाँ कई राज्य थे - ताई, मलय, ख्मेर इत्यादि। सन् १२३८ में सुखोथाई राज्य की स्थापना हुई जिसे पहला बौद्ध थाई (स्याम) राज्य माना जाता है। लगभग एक सदी बाद [[अयुध्या]] के राज्य ने सुखाथाई के उपर अपनी प्रभुता स्थापित कर ली। सन् १७६७ में अयुध्या के पतन ([[बर्मा]] द्वारा) के बाद थोम्बुरी राजधानी बनी। सन् १७८२ में बैंकॉक में चक्री राजवंश की स्थापना हुई जिसे आधुनिक श्यामदेशथाईलैँड का आरंभ माना जाता है।
 
यूरोपीय शक्तियों के साथ हुई लड़ाई में स्याम को कुछ प्रदेश लौटाने पड़े जो आज बर्मा और [[मलेशिया]] के अंश हैं। [[द्वितीय विश्वयुद्ध]] में यह [[जापान]] का सहयोगी रहा और विश्वयुद्ध के बाद अमेरिका का। १९९२ में हुई सत्ता पलट में श्यामदेशथाईलैंड एक नया [[संवैधानिक राजतंत्र]] घोषित कर दिया गया।
 
== संस्कृति ==
धर्म और राजतंत्र थाई संस्कृति के दो स्तंभ हैं और यहां की दैनिक जिंदगी का हिस्सा भी। यहां का मुख्य धर्म है। गेरुए वस्त्र पहने बौद्ध भिक्षु और सोने, संगमरमर व पत्थर से बने बुद्ध यहां आमतौर पर देखे जा सकते हैं। यहां मंदिर में जाने से पहले अपने कपड़ों का विशेष ध्यान रखें। इन जगहों पर छोटे कपड़े पहन कर आना मना है।
 
श्यामदेशथाईलैंड के शास्त्रीय संगीत चीनी, जापानी, भारतीय ओर इंडोनेशिया के संगीत के बहुत समीप जान पड़ता है। यहां बहुत की नृत्य शैलियां हैं जो नाटक से जुड़ी हुई हैं। इनमें रामायण का महत्वपूर्ण स्थान है। इन कार्यक्रमों में भारी परिधानों और मुखोटों का प्रयोग किया जाता है।
 
== मुख्य आकर्षण ==
=== बैंकॉक ===
बैंकॉक श्यामदेशथाइलैंड की राजधानी है। यहां ऐसी अनेक चीजें जो पर्यटकों को आकर्षित करती हैं। इनमें से सबसे प्रसिद्ध हैं मरीन पार्क और सफारी। मरीन पार्क में प्रशिक्षित डॉल्फिन अपने करतब दिखाती हैं। यह कार्यक्रम बच्चों के साथ-साथ बड़ों को भी खूब लुभाता है। सफारी वर्ल्‍ड विश्‍व का सबसे बड़ा खुला चिड़ियाघर (प्राणीउद्यान) है। यहां एशिया और अफ्रीका के लगभग सभी वन्य जीवों को देखा जा सकता है। यहां की यात्रा थकावट भरी लेकिन रोमांचक होती है। रास्ते में खानपान का इंतजाम भी है।
 
=== पट्टया ===
बैंकॉक के बाद पट्टया श्यामदेशथाइलैंड का सबसे प्रमुख पर्यटक स्थल है। यहां भी घूमने-फिरने लायक अनेक खूबसूरत जगह हैं। इसमें सबसे पहले नंबर आता है ''रिप्लेज बिलीव इट और नॉट'' संग्रहालय का। यहां का इन्फिनिटी मेज और 4 डी मोशन थिएटर की सैर बहुत ही रोमांचक है। यहां की भूतिया सुरंग लोगों को भूतों का अहसास कराती है फिर भी सैलानी बड़ी संख्या में यहां आते हैं।
 
यहां के कोरल आइलैंड पर पैरासेलिंग और वॉटर स्पोट्स का आनंद उठाया जा सकता है। यहां पर काँच के तले वाली नाव भी उपलब्ध होती हैं जिससे जलीय जीवों और कोरल को देखा जा सकता है। कोरल आइलैंड में एक रत्न दीर्घा भी है जहां बहुमूल्य से रत्नों के बार में जानकारी ली जा सकती है। लेकिन इस आइलैंड में आने से पहले यह जान लें कि यहां का एक ड्रेस कोड है जिसका पालन करना आवश्यक है।
 
=== फुकेट ===
यह श्यामदेशथाइलैंड का सबसे बड़ा, सबसे अधिक आबादी वाला द्वीप है। सबसे ज्यादा पर्यटक यहां आते हैं। रंगों से भरी इस जगह का विकास मुख्य रूप से पर्यटन की वजह से ही हुआ है। इस द्वीप में कुछ रोचक बाजार, मंदिर और चीनी-पुर्तगाली सभ्यता का अनोखा संगम देखा जा सकता है।यहा सब्से ज्यादा आबादि थाई और नेपाली की है।
 
=== अयूथया ऐतिहासिक उद्यान ===
 
=== चियांग माई ===
बैंकॉक से करीब ७०० किमी. दूर चियांग माई श्यामदेशथाईलैंड का दूसरा सबसे बड़ा शहर है। पुरानी दुनिया का अहसास कराते इस शहर में करीब ३०० से ज्यादा मंदिर हैं। यहां से आप पर्वतों को भी देख सकते हैं। यह शहर आधुनिक भी हैं जहां आपको पूरी दुनिया के रंग मिल जाएंगे। चियांग माई खानपान व खरीदारी के शौकीनों और आशियाने की तलाश कर रहे लोगों के लिए बिल्कुल सही जगह है। बहुत सारे मंदिरों के अलावा यहां पर आरामदायक उद्यान, रात को लगने वाले बाजार, खूबसूरत संग्रहालय भी हैं जहां पर आराम से समय गुजारा जा सकता है।
 
=== नखोन पथोम ===
बैंकॉक के पश्चिम में स्थित नखोन पथोम को श्यामदेशथाईलैंड का सबसे पुराना शहर माना जाता है। यहां के फ्रा पथोम चेडी को विश्‍व का सबसे ऊंचा बौद्ध स्मारक माना जाता है। तेरावड बौद्धों द्वारा 6ठीं शताब्दी में बनाया गया मूल स्मारक अब एक विशाल गुंबद के नीचे स्थित है।
 
=== खरीदारी ===
बैंकॉक में खरीदारी के लिए कई जगहें हैं। इंद्रा मार्केट हाथ से बने सामान के लिए मशहूर है। एमबीके प्लाजा ब्रैंडिड सामान की खरीदारी के लिए उपयुक्त स्थान है। द सुप्रीम टोक्यो से कपड़ों और थाई नाइफ की खरीदारी की जा सकती है। इसके अलावा श्यामदेशथाईलैंड से रेशम, कीमती रत्न और पेंटिंग्स भी खरीदी जा सकती हैं।
 
== इन्हें भी देखें ==
 
; आधिकारिक
* [http://www.thaigov.go.th/ श्यामदेशथाईलैंड की शाही सरकार]
* [http://www.tourismthailand.org/ श्यामदेशथाईलैंड पर्यटन प्राधिकरण]
* [http://www.parliament.go.th/files/mainpage.htm थाई नैशनल असेम्बली]
* [http://www.mfa.go.th/ श्यामदेशथाईलैंड विदेश मंत्रालय]
* [http://internet.nectec.or.th/webstats/internetmap.current.iir?Sec=internetmap_current श्यामदेशथाईलैंड इंटरनेट सूचना]
* [http://www.walkingsteet.co/ श्यामदेशथाईलैंड पर्यटन सूचना ]
 
{{एशिया}}