मुख्य मेनू खोलें

आग का मतलब? के मानव एक है रे,
नहीं बचा बद की बदी से, आदमी जो नेक है रे.
आदमी ओ नेक! दामन बचा के चलना अपने,
तू अगर झुलसा नहीं, तो सच न होंगे पुण्य सपने।
-- भवानी प्रसाद मिश्र

Universe expansion2.png यह प्रयोगकर्ता विकिपरियोजना खगोलशास्त्र में भागीदार है।