"किशनगंगा नदी" के अवतरणों में अंतर

17 बैट्स् जोड़े गए ,  8 वर्ष पहले
छो
Bot: अंगराग परिवर्तन
छो (Bot: अंगराग परिवर्तन)
'''किशनगंगा नदी''', जिसका नाम [[पाकिस्तान]] में बदलकर '''नीलम नदी''' कर दिया गया है, [[कश्मीर]] क्षेत्र की एक नदी है।
 
== मार्ग ==
किशनगंगा नदी [[जम्मू व कश्मीर]] राज्य के सोनमर्ग शहर के पास स्थित किशनसर झील (कृष्णसर झील) से शुरू होती है और उत्तर को चलती है जहाँ बदोआब गाँव के पास [[द्रास]] से आने वाली एक उपनदी इसमें मिल जाती है। फिर यह कुछ दूर तक [[नियंत्रण रेखा]] के साथ-साथ चलकर गुरेज़ के पास [[पाक-अधिकृत कश्मीर]] के [[गिलगित-बल्तिस्तान]] क्षेत्र में दाख़िल हो जाती है। वहाँ से पश्चिम की तरफ़ बहकर यह [[मुज़्ज़फ़राबाद​]] के उत्तर में [[झेलम नदी]] में जा मिलती है। इसके कुल २४५ किमी के मार्ग में से ५० किमी भारतीय नियंत्रण वाले इलाक़े में आता है और शेष १९५ किमी पाक-अधिकृत कश्मीर में।<ref name="ref05yocoz">[http://books.google.com/books?id=zn8I4qEew9oC Pakistan and the Karakoram Highway], Sarina Singh, Lindsay Brown, Paul Clammer, Rodney Cocks, John Mock, pp. 185, Lonely Planet, 2008, ISBN 9781741045420978-1-74104-542-0, ''... Running through the Lesser Himalaya, the 200km Neelam River valley (called the Kishanganga before Partition) is AJ&K's main attraction ... Sharda: This opening in the valley, 30km beyond Dowarian, is said to be Neelam Valley's most beautiful spot ...''</ref>
 
== किशनगंगा वादी (नीलम वादी) ==
किशनगंगा वादी, जिसे पाकिस्तान नीलम वादी कहता है, एक २५० किमी लम्बी हरी-भरी [[हिमालय]] की गोद में स्थित [[तंग घाटी]] है। यह मुज़्ज़फ़राबाद​ से होकर अठमुक़ाम तक जाती है। यहाँ [[हिन्दू]] व [[बौद्ध धर्म|बौद्ध]] धर्मों का ऐतिहासिक शिक्षा संस्थान, शारदा पीठ, स्थित है। यह पूर्व क्षेत्र [[सरस्वती]] देवी से सम्बंधित माना जाता था और इसे पुराने ज़माने में 'शारदादेश' भी कहा जाता था।<ref name="ref05yocoz"/><ref name="ref13podah">[http://books.google.com/books?id=QkhuAAAAMAAJ A Travel Companion to the Northern Areas of Pakistan], Tahir Jahangir, Oxford University Press, 2004, ISBN 9780195799699978-0-19-579969-9, ''... The road runs along the river originally called the Kishanganga and now the Neelam ... Beyond Kiran are the ancient universities of Sharda and Narda ...''</ref>
 
नीलम वादी में प्रवेश करने के दो रास्ते हैं। एक तो मुज़्ज़फ़राबाद​ से आता है और दूसरा [[ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा]] के [[मानसेहरा ज़िले]] के काग़ान​ शहर से।
 
== इन्हें भी देखें ==
* [[गिलगित बल्तिस्तान]]
 
== सन्दर्भ ==
<small>{{reflist|2}}</small>
 
74,334

सम्पादन