"मानवशास्त्र": अवतरणों में अंतर

88 बैट्स् नीकाले गए ,  7 वर्ष पहले
छो
164.100.37.37 (Talk) के संपादनों को हटाकर अनुनाद सिंह के आखिरी अवतर...
छो (164.100.37.37 (Talk) के संपादनों को हटाकर अनुनाद सिंह के आखिरी अवतर...)
'''{{मुख्य|जैविक नृविज्ञान}}'''
 
यह मानव विज्ञान की प्रथम शाखा है॰ इस शाखा का संबंध आदि मानवों और मानव के पूर्वजों की भौतिक या जैव विशेषताओं तथा मानव जैसे अन्य जीवों, जैसे चिमपैन्जी, गोरिल्ला और बंदरों से समानताओं से है। यह शाखा विकास श्रृंखला के जरिए सामाजिक रीति रिवाजों को समझने का प्रयास करती है। यह जातियों के बीच भौतिक अंतरों की पहचान करती है और इस बात का भी पता लगाती है कि विभिन्न प्रजातियों ने किस तरह अपने आप को शारीरिक रूप से परिवेश के अनुरूप ढाला. इसमें यह भी अध्ययन किया जाता है कि विभिन्न परिवेशों का उनपर क्या असर पड़ा. जैव या भौतिक नृतत्व विज्ञान की अन्य उप शाखाएं और विभाग भी हैं जिनमें और भी अधिक विशेषज्ञता हासिल की जा सकती है। इनमें आदि मानव जीव विज्ञान, ओस्टियोलाजी (हड्डियों और कंकाल का अध्ययन), पैलीओएंथ्रोपोलाजी यानी पुरा नृतत्व विज्ञान और फोरेंसिक एंथ्रोपोलाजी.
 
=== अनुप्रयुक्त नृतत्व विज्ञान ===