"काज़ीगुंड" के अवतरणों में अंतर

आकार में कोई परिवर्तन नहीं ,  4 वर्ष पहले
 
== यातायात ==
सन् १९५६ में खोली गई २.८५ किमी लम्बी जवाहर सुरंग पीर पंजाल शृंख्ला को चीरकर बनिहाल को काज़ीगुंड से जोड़ती है और कश्मीर वादी और देश के अन्य भागों के बीच के सड़क यातायात की मुख्य सूत्र है। काज़ीगुंड से उत्तर की ओर [[श्रीनगर]] तक रेल चलती है जिसकी दिन में चार बार सेवा है। अब बनिहाल-काज़ीगुंड के बीच एक ११ किमी लम्बी पीर पंजाल रेल सुरंग द्वारा बनिहाल तक भी रेल चलती है, जिस से इन दोनों के बीच का रास्ता केवल १११७ किमी रह गया है।<ref name="TOI">{{cite news| title=India's longest railway tunnel unveiled in Jammu & Kashmir| url=http://articles.timesofindia.indiatimes.com/2011-10-14/india/30278754_1_jawahar-tunnel-tunnel-excavation-baramulla| publisher=The Times of India| date=October 14, 2011| accessdate=October 14, 2011}}</ref> बनिहाल से दक्षिण की ओर रेलमार्ग बढ़ाने का कार्य जारी है, जो पूरा होने पर देश के किसी भी भाग से कश्मीर घाटी के किसी भी भाग तक रेल सेवा सक्षम कर देगा।
 
== इन्हें भी देखें ==