मुख्य मेनू खोलें
चाँदा(कोतवाली क्षेत्र), सुल्तानपुर
कस्बा
देशFlag of India.svg भारत
राज्यउत्तर प्रदेश
जनपद सुल्तानपुर
भाषा
 • आधिकारिकहिंदी
 • बोलचाल की भाषाअवधी
समय मण्डलआईएसटी (यूटीसी+5:30)
PIN222303
वेबसाइटhttps://www.google.com/search?q=chanda+222303&oq=chanda+222303&aqs=chrome..69i57.5551j0j4&client=ms-android-ckt&sourceid=chrome-mobile&ie=UTF-8

[./Https://www.google.com/search%3Fq%3Dchanda%2B222303%26oq%3Dchanda%2B222303%26aqs%3Dchrome..69i57.5551j0j4%26client%3Dms-android-ckt%26sourceid%3Dchrome-mobile%26ie%3DUTF-8 Chanda]Https://www.google.com/search?q=chanda+222303&oq=chanda+222303&aqs=chrome..69i57.5551j0j4&client=ms-android-ckt&sourceid=chrome-mobile&ie=UTF-8[1] राजमार्ग 56 के किनारे बसा चाँदा सुलतानपुर जिले में अपनी एक अलग पहचान रखता है।पहले इसे विधानसभा का दर्ज़ा प्राप्त था,लेकिन अब इसकी गिनती लम्भुआ विधानसभा के अन्तर्गत की जाती है।चाँदा को औसत विकास वाला क्षेत्र कहा जा सकता है,लेकिन समय के बीतने के साथ ही चाँदा के विकास की गति तीव्र होती जा रही है।

नगर पंचायत कोइरीपुर चाँदा कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत ही आता है।जोकि सुलतानपुर जिले के प्राचीन बाज़ारों में से एक है।

चाँदा की पहचान यहाँ मनाये जाने वाले त्यौहारों से होती है।श्री कृष्ण जन्माष्टमी,दुर्गा पूजा महोत्सव,होलीऔर मोहर्रम यहाँ मनाये जाने वाले प्रमुख त्यौहार हैं।यहाँ मनायी जाने वाली श्री कृष्ण जन्माष्टमी चाँदा को अलग पहचान दिलाती है।यहाँ जन्माष्टमी का पर्व दो दिनों तक चलता है,जिसमें बड़े-बड़े पाण्डालों में चलती-फिरती मूर्तियों द्वारा भगवान श्री कृष्ण की मनोरम झाँकियाँ सजायी जाती हैं।

शाहपुर जंगल के बीच में स्थित सुप्रसिद्ध श्री गौरी शंकर महादेव धाम चाँदा कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत ही आता है।इस धाम का सुन्दरीकरण करके इसे पर्यटन स्थल भी घोषित कर दिया गया है।

सुविख्यात कोइरीपुर शिवालय भी इसी क्षेत्र के अन्तर्गत आता है।जो कि प्राचीन शिल्प और वास्तुकला का अनूठा उदाहरण है।

  1. "chanda 222303 - Google सर्च". www.google.com. अभिगमन तिथि 2019-10-16.