सालार जंग संग्रहालय

हैदराबाद, तेलंगाना स्थित एक संग्रहालय

सालार जंग संग्रहालय तेलंगाना राज्य की राजधानी हैदराबाद शहर में मूसा नदी के दक्षिणी तट पर दार-उल-शिफा में स्थित एक कला संग्रहालय है। यह भारत के तीन राष्ट्रीय संग्रहालयों में से एक है। यह हैदराबाद शहर के पुराने शहर जैसे चारमीनार, मक्का मस्जिद आदि महत्वपूर्ण स्मारकों के करीब है।[1][2]

सालार जंग संग्रहालय
Salar Jung Museum, Hyderabad, India.jpg
The Salar Jung Museum building
स्क्रिप्ट त्रुटि: "auto" फंक्शन मौजूद नहीं है।
स्क्रिप्ट त्रुटि: "autocaption" फंक्शन मौजूद नहीं है।
स्थापित16 दिसम्बर 1951; 70 वर्ष पहले (1951-12-16)
अवस्थितिDar-ul-Shifa, Hyderabad, Telangana, India
प्रकारArt Museum
Key holdingsVeiled Rebecca
संग्रह का आकार1.1 million objects
स्वामीभारत सरकार
जालस्थलwww.salarjungmuseum.in
सालार जंग संग्रहालाय के सामने का दृश्य।

इतिहास और पृष्ठभूमिसंपादित करें

मीर यूसुफ अली खान, सालार जंग 3 (1889 -1949) एक महान व्यक्ति थे, जिन्होंने 7th निज़ाम मीर उस्मान अली ख़ान के शासन के दौरान हैदराबाद प्रांत के प्रधान मंत्री के रूप में कार्य किया था।

वृद्ध पीढ़ी का मानना है कि वर्तमान संग्रह सालार जंग III द्वारा एकत्रित मूल कला संपत्ति का केवल आधा हिस्सा है और अधिकांश कलाकृतियों को सलाजजंग के कर्मचारियों द्वारा चुराया गया है।[3][4]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "संग्रहीत प्रति". मूल से 9 अगस्त 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 सितंबर 2018.
  2. "Fire scare at Salar Jung museum". मूल से 10 नवंबर 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 सितंबर 2018.
  3. "Hasan stole Nizam artefacts with museum staffer's help". मूल से 12 जुलाई 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 सितंबर 2018.
  4. "Hasan Ali, four others booked for 'stealing' Mazama's antiques".