स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी प्रयोग

स्पेस कैप्सूल रिकवरी एक्सपेरिमेंट या आमतौर पर स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी-1(SRE-1) एक भारतीय प्रयोगात्मक अंतरिक्ष यान जो भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा श्रीहरिकोटा से 10 जनवरी, 2007 को 03:53 जी.एम.टी. पर शुरू किया गया था। इसका प्रक्षेपण तीन अन्य उपग्रहों के साथ ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान सी7 रॉकेट द्वारा किया गया था। यह पृथ्वी के वायुमंडल में फिर से प्रवेश करने से पहले 12 दिनों के लिए कक्षा में रहा। और 22 जनवरी को 4:16 जी.एम.टी. पर बंगाल की खाड़ी में नीचे उतरा। [1][2][3]

स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी-1(SRE-1)
स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी-1 अंतरिक्ष यान अप्रैल 2007 पर तिरुवनंतपुरम के सार्वजनिक प्रदर्शन में
स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी-1 अंतरिक्ष यान अप्रैल 2007 पर तिरुवनंतपुरम के सार्वजनिक प्रदर्शन में
मिशन प्रकार प्रौद्योगिकी
संचालक (ऑपरेटर) भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
कोस्पर आईडी 2007-001C
सैटकैट नं॰ 29711
मिशन अवधि 12 दिन
अंतरिक्ष यान के गुण
निर्माता भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
लॉन्च वजन 550 किलोग्राम (19,000 औंस)
मिशन का आरंभ
प्रक्षेपण तिथि 10 जनवरी 2007, 03:54 यु.टी. सी
रॉकेट ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान सी7
प्रक्षेपण स्थल सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र
ठेकेदार भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन
मिशन का अंत
लैंडिंग तिथि 22 जनवरी 2007, 04:16 UTC
लैंडिंग स्थल बंगाल की खाड़ी
कक्षीय मापदण्ड
निर्देश प्रणाली भू कक्षा
काल पृथ्वी की कक्षा निचली में
----
स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी प्रयोग (SRE)
स्पेस कॅप्सुल रिकव्हरी प्रयोग 2 (SRE-2)

सन्दर्भसंपादित करें