स्मिता माधव कर्नाटक शास्त्रीय गायिका और भरतनाट्यम नृत्यांगना हैं। कर्नाटक संगीत आमतौर पर भारत के दक्षिणी भाग से जुड़ा हुआ है और भारतीय शास्त्रीय संगीत के दो मुख्य वर्गीकरणों में से एक है (दूसरा हिंदुस्तानी शास्त्रीय संगीत है)।

संगीत करियरसंपादित करें

स्मिता को भरतनाट्यम में श्रुति लया केंद्र नटराजालय के निदेशक द्वारा प्रशिक्षित किया गया है। इस संस्थान की स्थापना मृदंगम उस्ताद कराइकुडी मणि द्वारा की गई थी। उन्हें हैदराबाद सिस्टर्स के नाम से जानी जाने वाली ललिता और हरिप्रिया से कर्नाटक शास्त्रीय संगीत में उन्नत प्रशिक्षण प्राप्त करना जारी है। स्मिता ने तेलुगु विश्वविद्यालय से संगीत और नृत्य में डिप्लोमा किया है। वह फिलहाल इंदिराकला संगीत विद्यालय से नृत्य में परास्नातक और मद्रास विश्वविद्यालय से संगीत में परास्नातक कर रहीं हैं। वह भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद की एक प्रतिष्ठित कलाकार हैं।[1]

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद".