होशंगाबाद

होशंगाबाद को नर्मदापुरम के नाम से भी जाना जाता है, जो भारतीय राज्य मध्य प्रदेश में होशंगाबाद जिले
नर्मदापुरम
Narmadapuram
नर्मदापुरम is located in मध्य प्रदेश
नर्मदापुरम
नर्मदापुरम
मध्य प्रदेश में स्थिति
सूचना
प्रांतदेश: नर्मदापुरम जिला
मध्य प्रदेश
 भारत
जनसंख्या (2011): 1,17,988
मुख्य भाषा(एँ): हिन्दी
निर्देशांक: 22°45′N 77°43′E / 22.75°N 77.72°E / 22.75; 77.72

'नर्मदापुरम भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त के नर्मदापुरम जिले मे स्थित एक प्रमुख शहर है। नर्मदापुरम जिला मुख्यालय है। नर्मदा नदी के तट पर स्थित होने के कारण इसका नाम नर्मदापुरम पड़ा। यह शहर नर्मदा नदी के किनारे अपने खूबसूरत घाटों के लिए प्रसिद्ध है। जिसमे सेठानी घाट एक प्रमुख आकर्षण है। नर्मदा जयंती पर शहर में रंगारंग उत्सव होता है।[1] 'भारत के मध्य प्रदेश प्रान्त के नर्मदापुरम जिले मे स्थित एक प्रमुख शहर है। नर्मदापुरम जिला मुख्यालय है। नर्मदा नदी के तट पर स्थित होने के कारण इसका नाम नर्मदापुरम पड़ा। यह शहर नर्मदा नदी के किनारे अपने खूबसूरत घाटों के लिए प्रसिद्ध है। जिसमे सेठानी घाट एक प्रमुख आकर्षण है। नर्मदा जयंती पर शहर में रंगारंग उत्सव होता है। यहां सेे डॉ. सीताशरण शर्मा पांचवी बार विधायक बनें, एवं वह मध्यप्रदेश विधानसभा के अध्यक्ष भी रह चुके हैं, डॉ सीताशरण शर्मा एवं उनके परिवार द्वारा इस क्षेत्र में सामाजिक उत्थान एवं क्षेत्र के विकास हेतु कई कार्य किए गए हैं।[2] नर्मदापुरम नर्मदा नदी के किनारे स्थित है। इसके किनारे पर सतपुड़ा पर्वत स्थित है। नर्मदा नदी जिले की उत्तरी सीमा के साथ-साथ बहती है। नर्मदा की सहायक नदी दूधी है जो कि नर्मदापुरम जिले की उत्तरी पूर्वी सीमा बनाती है। नर्मदापुरम में प्रतिभूति कागज कारखाना है, जिसमें भारतीय रुपया छापने के लिए कागज बनाया जाता है। यहाँ एक केन्द्रीय विद्यालय भी है जिसका पूरा नाम केन्द्रीय विद्यालय प्रतिभूति कागज कारखाना नर्मदापुरम है। नर्मदापुरम के पास प्राचीन पहाड़ियाँ हैं जिन्हें "पहाड़िया" कहा जाता है। इन पहाड़ियों में कुछ गुफायें हैं जिनमें शैलचित्र जिन्हें राक पेंटिंग भी कहते हैं उकेरे गये हैं। ये राक पेंटि्ग्स आदि मानव द्वारा निर्मित हैं। हजारों साल से खुले आसमान के नीचे रहने के बाद भी ये पेंटिंग्स अभी भी मिटी नहीं हैं। नर्मदा नदी का प्रसिद्ध सेठानी घाट नर्मदापुरम में ही है। नर्मदापुरम में एक प्राचीन गुरुकुल है।[3][4]

भूगोलसंपादित करें

नर्मदापुरम 22.75°N 77.72°E पर स्थित हैं,और अधिकतम ऊचाई 278 मीटर (912 फ़ीट) हैं।

सीमाएंसंपादित करें

नर्मदापुरम जिले की उत्तरी सीमा नर्मदा नदी से लगी हैं,और नर्मदा नदी के दूसरे छोर पर रायसेन और सिहोर जिले स्थित हैं,दक्षिण की ओर बैतूल ज़िला स्थित हैं,वही जिले की पश्चिम और उत्तर पश्चिम सीमाएं हरदा जिले से लगी हुई हैं, नरसिंगपुर जिला उत्तर पूर्व सीमा से समीप हैं और छिंदवाड़ा जिला दक्षिण पूर्व सीमा से समीप हैं।

जलवायुसंपादित करें

नर्मदापुरम जिले की जलवायु सामान्य हैं,और सभी ऋतुओ का आवागमन जिले में होता हैं, समुद्री स्तर से औसत उचाई 331 मीटर हैं तथा औसत वर्षा 134 सेंटीमीटर हैं,औसत अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तथा औसत न्यूनतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस है।

आवागमनसंपादित करें

नर्मदापुरम पूरी तरह से सड़क अथवा रेल मार्ग से मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल से जुड़ा हुआ हैं, और भोपाल से लगभग 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं। नर्मदापुरम रेलवे स्टेशन मध्यप्रदेश की सभी बड़े शहरों से जुड़ा हुआ हैं,इटारसी जो कि नर्मदापुरम की एक तहसील है और 18 किलोमीटर की दुरी पर स्थित हैं रेलवे जंक्शन हैं और देश के सभी प्रमुख शहरों से रेल मार्ग द्वारा जुड़ा हुआ हैं।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "मध्य प्रदेश: नर्मदा जयंती पर होशंगाबाद हुआ नर्मदापुरम, बाबई को मिला नया नाम- माखन नगर". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2022-02-09.
  2. "Speaker of Madhya Pradesh". mpvidhansabha.nic.in. मूल से 17 अप्रैल 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 अगस्त 2019.
  3. "Inde du Nord: Madhya Pradesh et Chhattisgarh Archived 2019-07-03 at the Wayback Machine," Lonely Planet, 2016, ISBN 9782816159172
  4. "Tourism in the Economy of Madhya Pradesh," Rajiv Dube, Daya Publishing House, 1987, ISBN 9788170350293