अन्नम भट्ट, सोलहवीं -सत्रहवीं शताब्दी के भारतीय दार्शनिक हैं। उन्होने न्याय और वैशिक दर्शनों से सम्बन्धित अनेक संस्कृत ग्रन्थ्ं की रचना की है जिनमें तर्कसंग्रह और 'तर्कसंग्रहदीपिका' प्रमुख हैं।