आँजणा (कलबी) समाज, अथवा आंजना एक भारतीय की एक प्राचीन खेतिहर जाति है और गोत्र है। कालान्तर में आंजना, कलबी, पटेल, चौधरी तथा पाटीदार सहित कई उपजातियों का समूह बन गया है। कलबी जनजाति की आबादी बाहुल्यता से पश्चिमी राजस्थान (मारवाड़) मेवाड़ सहित सीमावर्ती गुजरात राज्य के बनासकांठा, साबरकांठा सहित आस पास के आंचलों में प्रमुखता से ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करतें है। कृषि एवं पशुपालन उनकी आय का प्रमुख स्रोत है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

ये लोग अपने को हिंदू देवता हनुमान की माता अंजना से संबंधित मानते हैं और साथ ही राजपूत होने का दावा करते हैं।[1]

सन्दर्भ

  1. Singh, K. S. (1998). Rajasthan (अंग्रेज़ी में). Popular Prakashan. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-7154-766-1. मूल से 1 दिसंबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2020.