इस्माईल या इश्माएल, यहूदी, इस्लाम और ईसाई धर्म के एक पैगम्बर हैं। कथा के अनुअसर, इस्माईल, इब्राहीम के बड़े बेटे थे। क़ुरान में दी गयी कहानी के अनुसार जब इब्राहीम अल्लाह के आदेश से अपनी पत्नी और अपने बेटे को सफ़ा-मर्वा नामक पहाड़ियों में छोड़ आए थे जो सऊदी अरब स्थित है तब इस्माईल दूध पीते शिशु थे तो वो अत्यधिक तृष्णा से ग्रस्त हो कर धरती पर अपनी एड़ियाँ मारते थे। उनकी माँ बेचैन होकर एक तरफ अपने बेटे के लिये पानी ढूण्ढती और कभी सफ़ा तो कभी मर्वा की पहाड़ियों पर भागती कहीं पानी दिखाई दे जिससे वो इस्माईल की प्यास बुझा सकें। जब वो सफ़ा-मर्वा की पहाड़ियों पर अपना सातवां चक्कर लगाने गईं तो उन्हों ने दृश्य देखा कि इस्माईल की एड़ियों से चश्मे फूट पड़े हैं। उन्हों ने उस पानी से कहा: "ज़म ज़म" जिसका अर्थ होता है "रुक जा"। मान्यता अनुसार वह पानी वहीं पर रुक गया जिसे आज मक्का में मौजूद ज़मज़म कुंआ को मन जाता है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें



इस्लाम के पैगम्बर कुरान अनुसार
आदम इदरीस नुह हुद सालेह इब्राहीम लूत इस्माइल इशाक याकूब यूसुफ़ अय्यूब  
آدم إدريس نوح هود صالح إبراهيم لوط إسماعيل إسحاق يعقوب يوسف أيوب
आदम (बाइबल) इनोच नोअह एबर शेलह अब्राहम लॉट इश्माएल आइजै़क जैकब जोसफ जॉब

शोएब मूसा हारुन धुल-किफ्ल दाऊद सुलेमान इलियास अल-यासा यूनुस ज़कारिया यहया ईसा मुहम्मद
شُعيب موسى هارون ذو الكفل داود سليمان إلياس إليسع يونس زكريا يحيى عيسى مُحمد
जेथ्रो मोजे़ज़ आरोन एजी़कल डैविड सोलोमन एलीजाह एलीशाह जोनाह जे़करिया जॉन ईशु मसीह पैराच्लीट
  वा