उन्नाव (Unnao) भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के उन्नाव ज़िले में स्थित एक नगर है। यह ज़िले का मुख्यालय भी है उन्नाव जिले की सुरुआत लखनऊ सीमा से सोहरामऊ से होती है , सोहरामऊ लखनऊ कानपुर रोड पर सबसे ज्यादा बस्ती वाला कस्बा है।[1][2]

सोहरामऊ उन्नाव सोहरामऊ में जगन्नाथ मंदिर चौराहे पर है जो सोहरामऊ की पहचान है।
Unnao
ऊपर से दक्षिणावर्त: कानपुर प्रबंधन अध्ययन संस्थान, उन्नाव अस्पताल, उनाव बायपास गेट, नवाबगंज पक्षी अभयारण्य की आर्द्रभूमि
उन्नाव is located in उत्तर प्रदेश
उन्नाव
उन्नाव
उत्तर प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 26°33′N 80°29′E / 26.55°N 80.49°E / 26.55; 80.49निर्देशांक: 26°33′N 80°29′E / 26.55°N 80.49°E / 26.55; 80.49
देश भारत
प्रान्तउत्तर प्रदेश
ज़िलाउन्नाव ज़िला
ऊँचाई123 मी (404 फीट)
जनसंख्या (2011)
 • कुल1,77,658
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी, अवधी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड209801
दूरभाष कोड+91-515
वाहन पंजीकरणUP-35

भूगोल संपादित करें

उन्नाव जनपद लखनऊ तथा कानपुर के बीच में स्थित है। उन्नाव की सुरूवात सई नदी के पुल से सोहरामऊ से होती है यह लखनऊ उन्नाव की सीमा पर स्थित है । यह लखनऊ से लगभग 60 किलोमीटर तथा कानपुर से 18 किलोमीटर दूर है। दोनों शहरों को जोड़ने वाले राजमार्गरेलमार्ग यहाँ से गुज़रते है। जनपद के पूर्व में सईं नदी व लखनऊ नगर की सीमाएँ, पश्चिम में गंगा नदी और कानपुर नगर की सीमाएँ, उत्तर में हरदोई, दक्षिण में रायबरेली व दक्षिण-पश्चिम में फतेहपुर है। जनपद मुख्यालय से 6 किमी की दूरी पर शारदा नहर के तट पर स्थित प्रियदर्शी नगर (हिन्दूखेड़ा) ग्राम में सम्राट बृहद्रथ बुद्ध विहार में राष्ट्रीय प्रतीक चिह्न अशोक स्तम्भ निर्मित है।

ऐतिहासिक सन्दर्भ संपादित करें

पौराणिक मान्यता के अनुसार उन्नाव के गंगा तट के परियर नामक स्थल पर बैठकर महर्षि वाल्मीकि ने दुनिया के प्रथम महाकाव्य "रामायण" की रचना की थी। मान्यता है कि लव-कुुुश ने राम की सेना को यहीं परास्त किया था। गौतम बुद्ध ने जनपद के बांगरमऊ ब्लॉक के नेवल जगटापुर ग्राम में 512 ई.पू. में 16वाँ वर्षावास व्यतीत किया। नगर को अभी तक अनेक देशभक्त, हिंदी साहित्य के पुरोधाओ की धरती से जाना जाता है। ह्वेन त्सांग ने जनपद के बांगरमऊ स्थल का जिक्र ना-फो-टु-पो-कु-लो नाम से किया है। 1857 की क्रांति के बाद तत्काल अवध के बैसवारा चकला को विभाजित करके उत्तरी भाग उन्नाव को नया जनपद बनाया गया। यह धरती लेखकों की कर्म भूमि भी है।

साहित्यिक सन्दर्भ संपादित करें

हिन्दी साहित्य में इसके पश्चात भगवती चरण वर्मा, नन्ददुलारे वाजपेयी, जगदंबा प्रसाद मिश्रा 'हितैषी' एवं डॉ॰ राम विलास शर्मा, डॉ॰ शिवमंगल सिंह 'सुमन' , प्रतापनारायण मिश्र, सूर्यकान्त त्रिपाठी 'निराला' ,आल्हा सम्राट लल्लू बाजपेई , रमई काका दिनेश बैसवारी केे नाम से जाना जाता है।

जलवायु संपादित करें

Unnao के जलवायु आँकड़ें
माह जनवरी फरवरी मार्च अप्रैल मई जून जुलाई अगस्त सितम्बर अक्टूबर नवम्बर दिसम्बर वर्ष
उच्चतम अंकित तापमान °C (°F) 28
(82)
32
(90)
40
(104)
44
(111)
46
(115)
48
(118)
41
(106)
38
(100)
38
(100)
36
(97)
32
(90)
28
(82)
48
(118)
औसत उच्च तापमान °C (°F) 18
(64)
24
(75)
29
(84)
35
(95)
40
(104)
41
(106)
35
(95)
34
(93)
32
(90)
30
(86)
25
(77)
20
(68)
33
(91)
औसत निम्न तापमान °C (°F) 6
(43)
12
(54)
14
(57)
20
(68)
22
(72)
25
(77)
26
(79)
23
(73)
22
(72)
16
(61)
12
(54)
7
(45)
15
(59)
निम्नतम अंकित तापमान °C (°F) −3
(27)
6
(43)
7
(45)
15
(59)
17
(63)
20
(68)
21
(70)
18
(64)
19
(66)
15
(59)
9
(48)
0
(32)
−3
(27)
औसत वर्षा मिमी (inches) 23
(0.91)
16
(0.63)
9
(0.35)
5
(0.2)
6
(0.24)
68
(2.68)
208
(8.19)
286
(11.26)
202
(7.95)
43
(1.69)
7
(0.28)
8
(0.31)
881
(34.69)
स्रोत: [3]

इन्हें भी देखें संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें

  1. "Uttar Pradesh in Statistics," Kripa Shankar, APH Publishing, 1987, ISBN 9788170240716
  2. "Political Process in Uttar Pradesh: Identity, Economic Reforms, and Governance Archived 2017-04-23 at the वेबैक मशीन," Sudha Pai (editor), Centre for Political Studies, Jawaharlal Nehru University, Pearson Education India, 2007, ISBN 9788131707975
  3. "Unnao". अभिगमन तिथि 25 March 2010.