कोकलास ( Koklass pheasant) (Pucrasia macrolopha) फ़ीज़ॅंट कुल का पक्षी है जो अफ़गानिस्तान, पाकिस्तान, भारत, नेपाल तथा चीन में पाया जाता है। [2]

कोकलास[1]
Stavenn Pucrasia macrolopha.jpg
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: रज्जुकी
वर्ग: पक्षी
गण: गॉलिफ़ॉर्मिस
कुल: फ़ॅसिअनिडी
उपकुल: फ़ॅसिअनिनी
वंश: पुकरैसिआ
जी.आर. ग्रे, १८४१
जाति: पी. मैक्रोलोफ़ा
द्विपद नाम
पुकरैसिआ मैक्रोलोफ़ा
(लैसन, १८२९)

पर्यायसंपादित करें

इसको कश्मीर में प्लास, हिमाचल प्रदेश के चाम्बा ज़िले में कुकरौला, कुलू तथा मंडी ज़िले में कोक, शिमला से अल्मोड़ा तक कोकलास या कोकला, और गढ़वाल, कुमाऊँ और पश्चिमी नेपाल के भोट इलाकों में पोकरास के नाम से जाना जाता है।[1]

विवरणसंपादित करें

इस पक्षी के नर और मादा के पंखों का रंग अलग होने के कारण दोनों लिंगों को आसानी से पहचाना जा सकता है।[1]

आकारसंपादित करें

नर की लंबाई तक़रीबन २४ इंच (६०.९६ से.मी.), पूँछ की लंबाई ९-११ इंच (२२.८६-२७.९४ से.मी.) और पंखों का फैलाव ९.५ इंच (२४.१३ से.मी.) तक का होता है जबकि मादा की लंबाई तक़रीबन २१ इंच (५३.२४ से.मी.), पूँछ की लंबाई ८ इंच (२०.३२ से.मी.) और पंखों का फैलाव ८.५ इंच (२१.५९ से.मी.) तक हो सकता है।

आहारसंपादित करें

यह पक्षी मुख्यतः पत्तियाँ और कलियाँ खाता है लेकिन बीज, बॅरी, फल तथा कीड़े-मकोड़े भी यदा कदा खा लेता है।[1]

प्रजननसंपादित करें

यह अप्रैल से जून के बीच प्रजनन करते हैं और लगभग ९ तक फीके बादामी रंग के अण्डे देते हैं जिनका औसतन आकार २.०८ इंच (५.२८ से.मी.) लंबे और १.४७ इंच (३.७३ से.मी.) चौड़े होते हैं। यह अपने अण्डे बिना कोई घोंसला बनाए ज़मीन में गड्ढा खोदकर देते हैं।[1]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Blanford, W. T. (1898). Blanford W.T. (संपा॰). The Fauna of British India, including Ceylon and Burma. IV. London: Taylor and Francis. मूल से 27 मई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि १५ मई २०१६.
  2. बर्डलाइफ़ इन्टरनैशनल (२०१२). "Pucrasia macrolopha". IUCN Red List of Threatened Species. Version 2013.2. International Union for Conservation of Nature. अभिगमन तिथि १५ मई २०१६.