मुख्य मेनू खोलें
गुना
Guna
गुना की मध्य प्रदेश के मानचित्र पर अवस्थिति
गुना
गुना
मध्य प्रदेश में स्थिति
सूचना
प्रांतदेश: गुना ज़िला
मध्य प्रदेश
Flag of India.svg भारत
जनसंख्या (2011): 1,80,978
मुख्य भाषा(एँ): हिन्दी
निर्देशांक: 24°39′N 77°19′E / 24.65°N 77.32°E / 24.65; 77.32

गुना (Guna) भारत के मध्य प्रदेश राज्य के गुना ज़िले में स्थित एक नगर है। यह उस ज़िले का मुख्यालय भी है।[1][2]

विवरणसंपादित करें

गुना मध्य प्रदेश के उत्तर में स्थित है। 35 किलोमीटर दूर राजस्थान सीमा है, पार्वती नदी मध्य प्रदेश और राजस्थान को अलग करती है। गुना मालवा का प्रवेश द्वार कहा जाता है और ग्वालियर संभाग में आता है। गुना शहर ७७' देशांतर तथा २५' अक्षांश तथा राष्ट्रीय राजमार्ग ३ (आगरा-मुम्बई) पर स्थित है। कोटा और बीना शहर से रेल मार्ग द्वारा भी यहाँ पहुँचा जा सकता है। शहर में मुख्यतः हिन्दू, मुस्लिम तथा जैन समुदाय के लोग निवास करते हैं।। खेती यहाँ का मुख्य कार्य है। गुना (ग्वालियर संयुक्त राष्ट्र सेना) प्राचीन अवंती किंगडम चंद प्रद्योत मााहेसेना द्वारा स्थापित का हिस्सा था। बाद में शिशुसंघ अवंत का राज्य है, जो मगध के बढ़ते साम्राज्य के गुना शामिल जोड़ा। 18 वीं सदी में, गुना मराठा नेता रामोजी राव सिंधिया ने विजय प्राप्त की, और शीघ्र ही भारत की आजादी के बाद जब तक ग्वालियर के राज्य का हिस्सा बना रहा था। गुना राज्य के ईसागढ़ जिले के हिस्से के रूप में दिलाई। 1897 में भारतीय रेलवे मिडलैंड एक रेल मार्ग गुना से गुजर निर्माण किया। भारत की स्वतंत्रता प्राप्ति, गुना अपने 16 जिलों में से एक के रूप में 28 मई 1948 को मध्य भारत के नए राज्य का हिस्सा बन गया। 1 नवंबर, 1956 को मध्य भारत मध्य प्रदेश राज्य में विलय कर दिया गया था। गुना के पास बजरंगढ नामक ऐतिहासिक स्थान है। यहॉं प्राचीन किला है। किले में भगवान श्री राम जानकी एवं श्री हनुमान जी के एतेहासिक प्रसिद्ध मंदिर है जो सभी की आस्‍था के केन्‍द्र हैं यहाँ महावीर भगवान की प्राचीन मूर्ति है। स्वतंत्रता से पहले गुना ग्वालियर राज घराने का हिस्सा था। जिस पर सिन्धिया वंश का अधिकार था। कुल क्षेत्रफल ६४८४.६३ वर्ग कि॰मी॰ तथा जनसंख्या ८३८०२६ है। इसके पश्चिम में राजस्थान स्थित है उत्तर में उत्तर प्रदेश स्थित है पूर्व में छत्तीसगढ़ी स्थित है तथा दक्षिण में महाराष्ट्र स्थित है विजयपुर में एक एनएफएल फैक्ट्री स्थित है तथा यहीं पर एक गेल फैक्ट्री में स्थित है राघोगढ़ में माननीय दिग्विजय सिंह मुख्यमंत्री जी का किला भी यहीं पर है इसके कुंभराज तहसील धनिया की मंडी में महत्वपूर्ण स्थान रखती है कुंभराज से पश्चिम में 13 किलोमीटर पर स्थित 1 ग्राम आंबे है जहां पर बहुत बड़ा बांध है जिसका निर्माण माननीय दिग्विजय सिंह द्वारा किया गया है आंबे के बगल में एक ताला बड़ा ग्राम है इस पर बहुत बड़ी कांच फैक्ट्री बनने की संभावना है अभी तक लेकिन बनी नहीं है खंग वाली पूरा लंबा चेक आंबे और बढ़ावे से गिरा हुआ एक ऊंची बड़ी है जिस पर श्री भगवान देवनारायण का मंदिर स्थित है इसका कार्य अभी निर्माणाधीन है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें