बीना-इटावा (Bina-Etawa), जिसे केवल बीना (Bina) भी कहा जाता है, भारत के मध्य प्रदेश राज्य के बीना-इटावा ज़िले में स्थित एक नगर है। यह पश्चिम मध्य रेलवे का एक प्रमुख रेलवे जंक्शन, तहसील और विधानसभा निर्वाचनक्षेत्र और औद्योगिक नगर भी है। यहां पर एक बहुत पुरानी जीएस फ्लोर मिल है और नई आरबी एग्रो इंडस्ट्री है यह दो बड़े औद्योगिक इकाइयां है यहां पांच वेयरहाउस और बिना रिफायनरी भी है [1][2] यह क्षेत्र मुख्यत: मध्यप्रदेश के पश्चिमोत्तरी क्षेत्र में स्थित मालवा के पठार पर स्थित है।[3]

बीना
Bina
बीना-इटावा
बीना रेलवे जंक्शन
बीना रेलवे जंक्शन
बीना is located in मध्य प्रदेश
बीना
बीना
मध्य प्रदेश में स्थिति
निर्देशांक: 24°11′13″N 78°12′14″E / 24.187°N 78.204°E / 24.187; 78.204निर्देशांक: 24°11′13″N 78°12′14″E / 24.187°N 78.204°E / 24.187; 78.204
देश भारत
प्रान्तमध्य प्रदेश
ज़िलाबीना-इटावा ज़िला
क्षेत्रफल
 • कुल52 किमी2 (20 वर्गमील)
ऊँचाई413 मी (1,355 फीट)
जनसंख्या (2021)
 • कुल4,25,567
भाषाएँ
 • प्रचलितहिन्दी
समय मण्डलभारतीय मानक समय (यूटीसी+5:30)
pincode470113,470124
वाहन पंजीकरणMP-15,MP-08,MP-40

भौगोलिक स्थितिसंपादित करें

इसके भौतिक स्वरूप की विशेषता धसान, बेबस, सुनार, कोपरा और बामनेर नदियों की पांच समानांतर घाटियां है। यह समुद्र तल से ६८३.४ मीटर की ऊचाई पर स्थित है। यह क्षेत्र गंगा-यमुना के जलग्रहण क्षेत्र में स्थित है। मुख्यत: गेहूं, धान, ज्वार, मक्का, चना, तुअर, सोयाबीन एवं तिल का उत्पादन होता है। अन्य फसले सब्जियां फल आदि की भी पैदावार होती है।

बीना तेल रिफायनरीसंपादित करें

बीना के निकट आगासौद में भारत ओमान तेल रिफायनरी की स्थापना के अतिरिक्त बिजली उत्पादन केंद्र बनाए जा रहे है। रिफायनरी के लिए कच्चा तेल गुजरात से प्राप्त होगा। उद्योगों के उप उत्पादों से अन्य सहयोगी अनुशंसी उद्योगों को कच्चा माल उपलब्ध होगा जिससे रोजगार के अवसर बनेंगे और इस इलाके का आर्थिक एवं सामाजिक विकास होगा।

मध्यप्रदेश नगर तथा ग्राम निवेश अधिनियम 1973 की धारा 4 के अंतर्गत मध्यप्रदेश शासन के आवास एवं पर्यावरण विभाग की अधिसूचना क्रमांक एफ-3/32 दिनांक 13 मई 1999 से तीन जिले (सागर, विदिशा, गुना) को मिलाकर बीना पेट्रोकेमिकल औद्योगिक रीजन घोषित किया गया है। पेट्रोलियम रिफायनरी की स्थापना का उद्देश्य इस क्षेत्र के आस-पास के क्षेत्रों में आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, भौतिक एवं पर्यावरणीय विकास में संरक्षित समन्वय स्थापित करना, क्षेत्रीय असंतुलन, पिछड़ापन, बेरोजगारी दूर करना एवं पलायन को रोकना है। इसके साथ ही साथ ऊर्जा, यातायात एवं परिवहन, आर्थिक एवं सामाजिक सेक्टर में उच्च स्तरीय अधोसंरचनाओं को विकसित करना है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Inde du Nord: Madhya Pradesh et Chhattisgarh Archived 2019-07-03 at the Wayback Machine," Lonely Planet, 2016, ISBN 9782816159172
  2. "Tourism in the Economy of Madhya Pradesh," Rajiv Dube, Daya Publishing House, 1987, ISBN 9788170350293
  3. "Bina-Etawa Map | India Google Satellite Maps". www.maplandia.com. अभिगमन तिथि 20 February 2021.