मुख्य मेनू खोलें

डॉ जगन्नाथ मिश्र भारतीय राजनेता और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री हैं।[1] श्री मिश्रा ने प्रोफेसर के रूप में अपना करियर शुरू किया था और बाद में बिहार विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर बने। डॉ० मिश्र तीन बार बिहार के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। उनकी रुचि राजनीति में बचपन से ही थी, क्योंकि उनके बड़े भाई, ललित नारायण मिश्र राजनीति में थे और रेल मंत्री थे। डॉ जगन्नाथ मिश्रा विश्वविद्याल में पढ़ाने के दौरान ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हुए। डॉ मिश्र 1975 में पहली बार मुख्यमंत्री बने। दूसरी बार उन्हें 1980 में कमान सौंपी गई और आखिरी बार 1989 से 1990 तक बिहार के मुख्यमंत्री रहे। वह 90 के दशक के बीच केंद्रीय कैबिनेट मंत्री भी रहे। बिहार में डॉ मिश्र का नाम बड़े नेताओं के तौर पर जाना जाता है । कांग्रेस छोड़ने के बाद, वह राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए और अब जनता दल (यूनाइटेड) के सदस्य हैं। 30 सितंबर 2013 को रांची में एक विशेष केंद्रीय जांच ब्यूरो ने फोडर घोटाले में 44 अन्य लोगों के साथ उन्हें दोषी ठहराया। उन्हें चार साल की कारावास और 200,000 रुपये का जुर्माना लगाया गया था।[2]

जगन्नाथ मिश्र

पद बहाल
11 April 1975 – 30 April 1977
पूर्वा धिकारी अब्दुल गफूर
उत्तरा धिकारी राष्ट्रपति शासन
पद बहाल
8 June 1980 – 14 August 1983
पूर्वा धिकारी राष्ट्रपति शासन
उत्तरा धिकारी चंद्रशेखर सिंह
पद बहाल
6 December 1989 – 10 March 1990
पूर्वा धिकारी सत्येंद्र नारायण सिन्हा
उत्तरा धिकारी लालू प्रसाद यादव

निवास पटना, बिहार, भारत

अनुक्रम

व्यक्तिगत जीवनसंपादित करें

जन्म : 1937 जन्मस्थान: बलुआ बाजार (सुपौल)

इंडियन नेशनल कांग्रेस

राजनीतिक जीवनसंपादित करें

चारा घोटाला और जगन्नाथ मिश्रा :

चारा घोटाला की पटकथा जगन्नाथ मिश्रा के मुख्यमंत्री पद रहते ही हो चुकी थी लेकिन ये मामला सामने तब आया जब 1990 के दशक में मुख्यमंत्री लालू यादव थे। जगन्नाथ मिश्रा पर आरोप था कि इन्होंने दुमका और डोरंडा निधि से धोखाधड़ी से रूपये निकाले। बाद में सीबीआई अदालत ने इन्हें 4 साल की सजा सुनाई और रांची जेल भेज दिया।

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "चारा घोटाला मामला : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ जगन्नाथ मिश्र को राहत".
  2. "चारा घोटाला: दोषी जगन्नाथ मिश्रा ने किया सरेंडर, जेल भेजा".
पूर्वाधिकारी
अब्दुल गफूर
बिहार के मुख्यमंत्री
1975—1977
उत्तराधिकारी
राष्ट्रपति शासन
पूर्वाधिकारी
राष्ट्रपति शासन
बिहार के मुख्यमंत्री
1980—1983
उत्तराधिकारी
चंद्रशेखर सिंह
पूर्वाधिकारी
सत्येंद्र नारायण सिन्हा
बिहार के मुख्यमंत्री
1989—1990
उत्तराधिकारी
लालू प्रसाद यादव

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें