जिगर (फ़िल्म)

1992 की फारुख सिद्दीकी की फ़िल्म

जिगर 1992 की हिन्दी भाषा की मार्शल आर्ट एक्शन फिल्म है जो फारुख सिद्दीकी द्वारा निर्देशित है। दिवालसप्ताहांत के दौरान जिग

जिगर
जिगर.jpg
जिगर का पोस्टर
निर्देशक फारुख सिद्दीकी
निर्माता सलीम अख्तर
लेखक वीरू देवगन (विचार)
तनवीर ख़ान
एजाज नईम
अभिनेता अजय देवगन,
करिश्मा कपूर
संगीतकार आनंद-मिलिंद
प्रदर्शन तिथि(याँ) 23 अक्टूबर, 1992
देश भारत
भाषा हिन्दी

रिलीज हुई और सफल साबित हुई। यह फूल और काँटे के बाद अजय देवगन की दूसरी सफलता थी। इसके गीत भी उस वर्ष बहुत लोकप्रिय रहे थे।

संक्षेपसंपादित करें

सीधा-सच्चा राज वर्मा उर्फ राजू एक दिन घर लौटता है और देखता है कि उसकी बहन का गैंगस्टर बिहारी और उसके पहलवानों में से एक और राज के बचपन के मित्र दुर्योधन द्वारा सार्वजनिक रूप से बलात्कार किया जाता है। जब राज हस्तक्षेप करते हैं तो उसे पीटा जाता है, सार्वजनिक रूप से अपमानित किया जाता है और मरने के लिए छोड़ दिया जाता है। फिर उसे अस्पताल ले जाया जाता है और एक चमत्कार से वो बच जाता है। ठीक होने के बाद राज दुर्योधन और बिहारी से बदला लेने के लिए कसम खाता है और बाबा ठाकुर नाम के एक आदमी द्वारा एक विशेषज्ञ पहलवान बनने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है। पूरी तरह से प्रशिक्षित होने के बाद वह अपने सभी दुश्मनों से बदला लेता है। दुर्योधन की मौत लड़ाई में हो गई और लाल बिहारी की हत्या सुमन ने की।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत समीर द्वारा लिखित; सारा संगीत आनंद-मिलिंद द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."आये हम बाराती"कुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति9:00
2."एक पल एक दिन"पंकज उधास, साधना सरगम5:56
3."मेरे दिल को करार"उदित नारायण, साधना सरगम5:40
4."मोहब्बत है खुशबू"मोहम्मद अज़ीज़8:25
5."प्यार के कागज़ पे"साधना सरगम, अभिजीत7:06
6."तुझको बाहों में भर"उदित नारायण, साधना सरगम7:43
7."लोग बरसों जुदा"कविता कृष्णमूर्ति5:51

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें