दाँतों में या दांतों के आसपास होने वले दर्द को दाँत का दर्द या दन्तशूल (toothache) कहते हैं।

दंतमज्जाशोथ जो दाँत दर्द का प्रमुख कारण है।

कारणसंपादित करें

दांतो में दर्द होने के के कई कारण हो सकते हैं। कभी दांतों में कीड़े लग जाने की वजह से दर्द उठता है तो कभी मसूढ़ों में किसी तकलीफ की वजह से दांत दर्द करने लगते हैं। कभी-कभी दांतो की जड़ें काफी ढीली हो जाती हैं। इस वजह से भी दांतों में असहनीय पीड़ा होती है। ऐसी स्थिति में सही से ब्रश कर पाना काफी मुश्किल होता है और सांसों से बदबू आना भी शुरू हो जाता है। जब हम कुछ खाते हैं तो कुछ हिस्सा दांतों पर ही रह जाता है. जैसे सब्जी का दांतों में फंस जाना आदि. यह चीजें दांतों में सड़न पैदा करती हैं. जिससे दांत धीरे-धीरे कमजोर होते जाते हैं. खाना खाने के बाद हम कुल्ला नहीं करते जिसकी वजह से दांत ठीक से सांफ नहीं हो पाते हैं. पहले हम कुछ भी खाने के बाद कुल्ला कर के मुंह साफ़ कर लिया करते थे। अगर आप दांतों का साफ़ और मजबूत चाहते हैं तो कुछ भी खाने के बाद कुल्ला करना न भूलें।

सन्दर्भसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें