परपोड़ी (Parpodi) भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के बेमेतरा ज़िले में स्थित एक नगर है।[1][2]

परपोड़ी
Parpodi
परपोड़ी is located in छत्तीसगढ़
परपोड़ी
परपोड़ी
छत्तीसगढ़ में स्थिति
निर्देशांक: 21°35′10″N 81°12′22″E / 21.586°N 81.206°E / 21.586; 81.206निर्देशांक: 21°35′10″N 81°12′22″E / 21.586°N 81.206°E / 21.586; 81.206
ज़िलाबेमेतरा ज़िला
प्रान्तछत्तीसगढ़
देश भारत
ऊँचाई290 मी (950 फीट)
भाषा
 • प्रचलितहिन्दी, छत्तीसगढ़ी
समय मण्डलभामस (यूटीसी+5:30)
पिनकोड491331
वाहन पंजीकरणCG 25

विवरणसंपादित करें

परपोड़ी नगर एक हरा भरा नगर है। 28 मई 2003 को नगर पंचायत का दर्ज़ा मिला। यह राजा परपोड़ी" के नाम से प्रसिद्ध हैं। 14 जनवरी 2012 से पहले यह नगर दुर्ग जिले के अंतर्गत था पर अब यह छत्तीसगढ़ राज्य के नवघोषित 9 जिलो में से एक बेमेतरा जिले में हैं। नए बेमेतरा जिले के अंतिम छोर पर अवस्थित यह नगर जो 5 किलोमीटर के बाद राजनांदगांव जिले की सीमा को छूती हैं। यहाँ के राजा गोंड वंशी थे और 'जमींदार' कहलाने लगे। वास्तव में ये अपने अपने गढ़ के राजा होते थे। नगर का तहसील व विकासखंड "साजा" नगर हैं जो परपोड़ी से 20 किलोमीटर उत्तर में स्थित हैं। वर्तमान में परपोड़ी नगर पँचायत अध्यक्ष श्रीमती रिंकी जायसवाल है,उपाध्यक्ष केशव साहू है,वही कृषक संस्था सेवा सहकारी समिति भी यही स्थित है जिसके अध्यक्ष श्री विजय दुबे है।

भूगोलसंपादित करें

परपोड़ी नगर, बेमेतरा ज़िला मुख्यालय से दक्षिण दिशा में 52 किलोमीटर पर है। यह नगर भौगोलिक दृष्टीकोण से अक्षांश: 21°35'30" उत्तर और देशान्तर : 81°12'21" पूर्व पर स्थित हैं, सम्पूर्ण नगर का क्षेत्रफल 9.13 वर्ग किलोमीटर है यहां की अधिकांश भूमि लेटेराईट मिट्टी से युक्त समतलीय कठोर मैदान है, कुछ स्थानों पर दक्षिण दिशा की ओर काली मिट्टी देखने को मिलती हैं। सन 1999 में भारतीय केन्द्रीय खनिज उत्खनन विभाग के द्वारा चलाये जा रहे सर्वे में लगभग 50 वैज्ञानिको की टीम ने हजारों फीट भूमि का उत्खनन कर भिन्न भिन्न स्तर पर सर्वेक्षण के दौरान उपयुक्त मात्रा में लौह खनिज मिलने की संभावनाए जताई हैं। वर्तमान में उत्खनित स्थल पर पानी का एक अच्छा स्रोत प्राप्त हुआ हैं जिसका पुरे नगर में पेयजल आपूर्ति के साथ अन्य बहुउपयोग किया जा रहा हैं। नगर के दक्षिण पश्चिम स्थित दर्री तालाब में वर्ष भर पानी रहता हैं, पूर्व की सीमाओ में संयुक्त केशरी-बंधवा तालाब व उत्तर में बावा तालाब तथा पश्चिम में रानी तालाब में जल स्रोत उपलब्ध हैं, पूर्व में विगत 20 वर्ष पहले छिन्दी-रवार (छिन्दी वृक्ष का झाड़ी समूह) पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध थी जिससे छिन्द का इस वृक्ष से निकलने वाला हल्का मादक पेय ताड़ी का उत्पादन होता था। यहाँ अरहर, तुअर, विभिन्न प्रकार की सब्जी की पैदावारी अधिक होती हैं तथा विशेष रूप से तिल, जिमीकंद (रतालू) होने की सम्भावना अधिक हैं व धान, सोयाबीन पर्याप्त मात्रा में पैदा होता है। पूर्व की भूमि काली मिट्टी की है परंतु पश्चिम में लाल मिट्टी (मुरम) पाई जाती हैं।

परपोड़ी से अन्य मुख्य नगर व शहर की दूरीसंपादित करें

  • रायपुर - 68 किलोमीटर
  • दुर्ग -- 55 किलोमीटर
  • बेमेतरा -- 46 किलोमीटर
  • भिलाई - 53 किलोमीटर
  • कबीरधाम (कवर्धा)--58 किलोमीटर
  • राजनांदगांव -- 68 किलोमीटर
  • बिलासपुर -- 140 किलोमीटर
  • भोपाल -- 630 किलोमीटर
  • जबलपुर -- 302 किलोमीटर
  • नागपुर -- 281 किलोमीटर

ऐतिहासिक चित्रणसंपादित करें

एक प्रचलित किवदंती के अनुसार इस प्राचीन नगर का नामकरण अंतिम ज़मींदार लाल राजेंद्र सिंह की बुआ परमेश्वरी देवी के नाम पर हुआ हैं। राजनांदगांव गढ़ के अंतर्गत छत्तीसगढ़ में 33 जमीदारियो में से एक, ज़मींदारी केंद्र "राजा परपोड़ी " रहा हैं तत्कालीन प्रशासनिक व्यवस्थाओ के अनुसार यहाँ कभी कोर्ट - कचहरी से सम्बंधित आम फैसलों की सुनवाई की जाती थी, जहाँ आज भी उस प्राचीन रजवाड़े के क्षेत्र को कचहरी चौक कहते हैं। सन् 1940 के दशक में निर्मित नगर के पश्चिम दिशा में भव्य राजमहल एवं राम जानकी मंदिर का वैभव सम्पूर्ण अंचल में अपने प्राकृतिक अवस्थितता के चलते लगभग 20 किलोमीटर के गाँवों तक दिखाई देता हैं | इस नगर में आने वाला हर शख्स लालायित होकर रजवाड़े का अवश्य दर्शन करते हैं। यहाँ की जनसंख्या 2011 की जनगणना के आधार पर लगभग 6000 है, व कुल मतदाता 2107 हैं। प्रति सप्ताह सोमवार व शुक्रवार को साप्ताहिक बाज़ार लगता हैं, जिसमे आसपास के ग्रामीण काफी संख्या में खरीददारी करने आते हैं। यहाँ हिन्दी और छत्तीसगढ़ी बोली जाती हैं। परपोड़ी नगर, साजा विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत है। क्षेत्र के विधायक रविन्द्र_चौबे कांग्रेस से हैं, नगर पंचायत के वर्तमान श्री दिलीप जैन हैं जो की भारतीय राष्ट्रिय कांग्रेस पार्टी से हैं।

आवश्यक कार्यालीन दूरभाष क्रमांकसंपादित करें

  • कार्यालय नगर पंचायत - फोन -07821-292685
  • डाकघर (पोस्ट -ऑफिस), फोन - 07821-234222/098939-60980
  • दुर्ग-राजनांदगांव ग्रामीण बैंक, फोन - 07821-292482
  • पुलिस थाना परपोड़ी, फोन - 09179277309
  • आई.टी.आई. परपोड़ी - 07821-292198
  • आपात स्थिति एम्बुलेंस - 108

दर्शनीय स्थलसंपादित करें

  • श्री राम जानकी मंदिर रजवाड़ा
  • राजमहल रजवाड़ा
  • जय स्तंभ चौक
  • श्री शीतला मैया मंदिर एवं महामाया मंदिर केशरी तालाब
  • जमींदार लाल राजेंद्र सिंह खेल मैदान
  • राजीव गाँधी उद्यान (गार्डन)

प्रमुख स्कूल / महाविद्यालयसंपादित करें

  • बालक प्राथमिक शाला
  • कन्या प्राथमिक शाला
  • राजीव गाँधी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय
  • सरोजनी नायडू कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय
  • रानी अवन्ति बाई लोधी महाविद्यालय (जिसके अध्यक्ष श्री विजय दुबे है)

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें