पान्थोइबी

मणिपुरी पौराणिक कथाओं में एक देवी है।

पान्थोइबी (मैतै : ꯄꯥꯟꯊꯣꯢꯕꯤ) शक्ति, युद्ध, साहस, शांति, रोमांस और समृद्धि की देवी है जो सनमाही धर्म (मीती धर्म) के साथ-साथ मीतेई पौराणिक कथाओं में भी है।[1] उन्हें लीमरेल सिदाबी के दिव्य अवतारों में से एक माना जाता है। उसे देवी नोंगथांग लीमा भी कहा जाता है।[2]

पान्थोइबी
ꯄꯥꯟꯊꯣꯏꯕꯤ
शक्ति की देवी, पवन, शांति, प्रेम, युद्ध, साहस, अनन्त, दीर्घायु, आकाशवाणी, जीवन, पशु, गर्व, स्वास्थ्य और धन
PANTHOIPI.jpg
पान्थोइबी
अन्य नाम

फौओइबी नोंथां लैमा लैमरेल सिदबी ईराइ लैमा

ईमोइनू
संबंध सनामही धर्म एवं मैती मीथ
अस्त्र भाला (ꯇꯥ), तलवार (ꯊꯥꯡ) तथा सांप (ꯇꯥꯡꯖ ꯂꯤꯜ).
प्रतीक बाघ, श्वेत घोड़ा
जीवनसाथी नोंपोक् निंथौ (ꯅꯣꯡꯄꯣꯛ ꯅꯤꯡꯊꯧ)
हिन्दू रूप दुर्गा या आदि पराशक्ति

इन्हें भी देखिएसंपादित करें

संदर्भसंपादित करें

  1. R. K. Jhalajit Singh (1992). A Short History of Manipur. R.K. Jhalajit Singh.
  2. http://www.e-pao.net/epSubPageExtractor.asp?src=manipur.Folks.Folk_Tales.Incarnations_of_Goddess_Nongthang_Leima_By_James_Oinam