पाली, राजस्थान

राजस्थान का एक जिला

निर्देशांक: 25°46′N 73°20′E / 25.77°N 73.33°E / 25.77; 73.33 पाली राजस्थान राज्य के पाली जिले का मुख्य शहर है। यह इसी नाम से एक तहसील भी है। यह शहर राष्ट्रीय राजमार्ग १४ पर स्थित है। जोधपुर संभाग के इस जिले की संभाग मुख्यालय से दुरी 75 किमी है। पाली का इतिहास अतिप्राचीन हैं। शायद बहुत कम लोग यह बात जानते हैं, की आज के इस विशाल, खूबसूरत और विकसित पाली शहर के पीछे एक महान सिद्ध पुरुष चेतन पूरी जी का तप हैं। उन्हीं की तपस्या से आई आध्यात्मिक शक्तियों की बदौलत पाली का लाखोटिया तालाब बना। पाली शहर पर्यटन दृष्टि से भी काफी महत्वपूर्ण हैं। यहाँ पर बांगड़ म्यूजियम, नवलखा जैन मंदिर, लोडिया तालाब जैसे बहुत सारी घूमने की जगह है कपडा व्यवसाय के लिए प्रसिद्द पाली से तैयार कपडा पुरे देश में जाता है। इतिहासकार विजय नाहर के अनुसार पाली महाराणा प्रताप की जन्मस्थली एवं महाराणा उदयसिंह का ससुराल है।[1]

पाली
समय मंडल: आईएसटी (यूटीसी+५:३०)
देश Flag of India.svg भारत
राज्य राजस्थान
ज़िला पाली
जनसंख्या
घनत्व
1,87,571 (2001 के अनुसार )
• 15/किमी2 (39/मील2)
क्षेत्रफल
ऊँचाई (AMSL)
12,330.79 कि.मी² (4,761 वर्ग मील)
• 214 मीटर (702 फी॰)

प्रशासनसंपादित करें

पाली एक जिला है जहाँ वर्तमान में श्री दिनेशचन्द्र जैन जिला कलेक्टर के रूप में एवं श्री दिपक भार्गव पुलिस अधीक्षक के रूप में कार्यरत है। सुश्री प्रभा शर्मा पाली की जिला न्यायाधीश है। वर्तमान मे यहां नगर परिषद सभापति श्री रेखा राकेश भाटी है, जो कि 2019 में निर्वाचित हुए है। यह एक विधान सभा क्षेत्र भी है, जहां से श्री ज्ञानचन्द पारख विधायक है। उच्चतम न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता श्री प्रेम प्रकाश चौधरी वर्तमान में पाली से संसद सदस्य है वहीँ श्री पेमाराम चौधरी जिला प्रमुख है।

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "आज वीरता के महानायक महाराणा प्रताप की जयंती". www.sanjeevnitofay.com. अभिगमन तिथि 9 May 2019.