मुख्य मेनू खोलें
डॉ॰ प्रेमलता वर्मा

प्रेम लता वर्मा (जन्म १६ जुलाई १९३८ को इलाहाबाद में) कविता, कहानी, अनुवाद, साहित्य समीक्षा एवं अध्यापन के क्षेत्र से जुड़ी रही हैं। वे अर्जेंटीना के ब्यूनस आयर्स विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के पद से सेवा निवृत्त हुईं जहाँ से उन्होंने इंका साम्राज्य में सामाजिक एवं धार्मिक संरचना पर शोध प्रबंध लिखा और स्पैनिश भाषा में विशेषज्ञता प्राप्त की। वे पिछले अनेक वर्षों से अर्जेन्टीना में हिंदी एवं संस्कृत भाषा तथा भारतीय दर्शन एवं संस्कृति के विषय में अनेक पाठ्यक्रम आयोजित करती रहीं हैं।[1] वे विश्व के पहले और एकमात्र हिंदी-स्पेनिश शब्दकोश की रचनाकार हैं जिसे उन्होंने डैनियल मैसी के साथ मिलकर तैयार किया है।[2] उनके इस महत्वपूर्ण कार्य के लिये उन्हें वर्ष २००६ के पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।[3]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Miércoles 17 de octubre: La escritora Premlata Verma presenta una obra maestra sobre la literatura de la India" (php) (स्पेनी में). bureaudeprensa.com. अभिगमन तिथि 21 जनवरी 2013. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  2. "DICCIONARIO HINDI CASTELLANO-CASTELLANO HINDI" (स्पेनी में). Casadelibr.com. अभिगमन तिथि 21 जनवरी 2013. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. "पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार" (पीएचपी). केंद्रीय हिंदी संस्थान. अभिगमन तिथि 21 जनवरी 2013. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)