पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार

पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यानारायण पुरस्कार एक साहित्यिक पुरस्कार है जो भारत के मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत केन्द्रीय हिन्दी संस्थान द्वारा किसी ऐसे भारतीय मूल के विद्वान को दिया जाता है जिसने विदेश में हिन्दी भाषा या साहित्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया हो। इस पुरस्कार का प्रारंभ तमिलनाडु के हिंदी सेवी एवं विद्वान मोटूरि सत्यनारायण के नाम पर १९८९ में हुआ था। पहला पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार वर्ष २००२ में कनाडा के हरिशंकर आदेश को दिया गया था। इस पुरस्कार में एक लाख रुपये नकद, एक स्मृतिचिह्न, प्रशस्ति पत्र और शाल शामिल हैं। यह पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा स्वयं प्रदान किया जाता है।

सम्मानित विद्वानसंपादित करें

वर्ष नाम देश
२००२ हरिशंकर 'आदेश'[1] कनाडा
२००३ पी. जयरामन[2] अमरीका
२००४ यमुना काचरू[2] अमरीका
२००५ कृष्ण किशोर[2] अमरीका
२००६ प्रेमलता वर्मा[2] अर्जेंटीना
२००७ उषा प्रियंवदा[2] अमरीका
२००८ पूर्णिमा वर्मन[2] संयुक्त अरब अमीरात
२००९ सुरेन्द्र गंभीर[2] अमरीका
२०१० मदनलाल मधु[2] रूस
२०११ तेजेन्द्र शर्मा[2] यूनाइटेड किंगडम
२०१२ सुषम बेदी अमरीका
२०१३ स्नेह ठाकुर कैनेडा
२०१४ सुधा ओम ढींगरा अमरीका
२०१५ डॉ. पुष्पिता अवस्थी नीदरलैंड्स
२०१६ डॉ. पद्मेश गुप्त यूनाइटेड किंगडम
२०१७ उषा राजे सक्सेना यूनाइटेड किंगडम
२०१८ [[]] [[]]
२०१९ [[]] [[]]
२०२० [[]] [[]]

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Sameena. [पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार "पद्मभूषण डॉ॰ मोटूरि सत्यनारायण पुरस्कार"] जाँचें |url= मान (मदद). Hindisansthan.org. अभिगमन तिथि 2011-12-09.
  2. Khsdilt. "हिंदी सेवी सम्मान पुरस्कार". Hindisansthan.org. मूल से 4 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2011-12-09.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें