बैंक ऑफ़ बड़ौदा भारत का सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक है। भारतीय स्टेट बैंक और पंजाब नैशनल बैंक के बाद यह इस क्षेत्र का तीसरा सबसे बड़ा बैंक है। बैंऑब की कुल परिसंपत्ति १,७८५ अरब रू है, ३,००० शाखाओं और कार्यालयों का तंत्र है और लगभग १,०००+ एटीएम हैं। इसकी बैंकिंग सेवाओं में बैंकिंग उत्पाद और वित्तीय सेवाओं से लेकर कंपनीयों और फुटकर ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करना है।

बैंक ऑफ़ बड़ौदा
प्रकार सार्वजनिक
बी॰एस॰ई और एन॰एस॰ई:BOB}
उद्योग बैंकिंग
वित्तीय सेवाएँ और संबद्ध उद्योग
स्थापना 20 जुलाई 1908
मुख्यालय अल्कापुरी बड़ोदरा गुजरात
प्रमुख व्यक्ति संजीव चड्ढा, अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक
उत्पाद लोन, क्रेडिट कार्ड, बचत, निवेश वाहन इत्यादि
राजस्व Increase १४.२ अरब रू
कुल संपत्ति १,७९५ अरब रू
वेबसाइट www.bankofbaroda.com

बड़ौदा के महाराज सयाजीराव गायकवाड़ तृतीय ने इस बैंक की स्थापना २० जुलाई, १९०८ को गुजरात के देशी राज्य बड़ौदा में की थी। इस बैंक का अन्य १३ प्रमुख वाणिज्यिक बैंको के साथ १९ जुलाई, १९६९ को भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीयकरण कर दिया गया।

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें