मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल


मौलाना आजाद राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, भोपाल की स्थापना १९६० में की गई थी और २६ जून २००२ को इसे राष्‍ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान का दर्जा दिया गया। इस संस्थान में 8 विभाग हैं। यह संस्थान सिविल इंजीनियरी, अभियांत्रिकी इंजीनियरी, विद्युत इंजीनियरी, इलैक्टोनिकी तथा संचार इंजीनियरी, कम्प्यूटर विज्ञान तथा इंजीनियरी, सूचना प्रौद्योगिकी में चार वर्षीय बी.टेक कार्यक्रम और एक पांच वर्षीय बी.आर्क. पाठयक्रम का संचालन करता है। अवर स्नातक पाठयक्रमों में कुल दाखिला क्षमता ४५० है। यह संस्थान २४ विभिन्न विशेषज्ञताओं में नियमित तथा अंशकालिक पद्धति से एम.टेक पाठयक्रमों के साथ-साथ एमसीए तथा एमबीए पाठयक्रम भी संचालित करता है।

मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रोद्योगिकी संस्थान भोपाल
Maulana Azad National Institute of Technology Bhopal
MANIT.jpg
राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, भोपाल का मुख्य भवन
पूर्व नाम
मौलाना आजाद प्रौद्योगिकी महाविद्यालय, क्षेत्रीय इंजीनियरी महाविद्यालय (आर ई सी)
ध्येयविद्या परम् भूषणम्
Motto in English
ज्ञान सर्वश्रेष्ठ आभूषण है।
प्रकारसार्वजनिक
स्थापित1960
अनुदानभारत सरकार का मानव संसाधन विकास मंत्रालय
निदेशकनरेन्द्र सिंह रघुवंशी
शैक्षिक कर्मचारी
450 से अधिक
छात्र5,000 से अधिक
स्थानभोपाल, मध्य प्रदेश, भारत
निर्देशांक: 23°12′56″N 77°24′29.86″E / 23.21556°N 77.4082944°E / 23.21556; 77.4082944
परिसरनगरीय, भोपाल के दक्षिणपूर्व में 650 एकड़ (2.6 कि॰मी2) में फैला हुआ
भाषाहिन्दी, अंग्रेजी
AcronymMANIT, MACT, NIT-B
संबद्धताएंराष्ट्रीय महत्व का संस्थान
जालस्थलwww.manit.ac.in

विभागसंपादित करें

इस महाविद्यालय में निम्नलिखित विभाग हैं:[1]

छात्रावाससंपादित करें

इस संस्थान में नौ बालक छात्रावास और एक बालिका छात्रावास है।[2]

कल्पना चावला भवनसंपादित करें

यह छात्रावास संस्थान के बी.टेक/बी.आर्क के सम्पूर्ण वर्ष के छात्राओं के लिए हैं। इसे छात्रावास क्रमांक ७ के नाम से भी जाना जाता है।

डॉ ए.पी.जे अब्दुल कलाम भवनसंपादित करें

इस छात्रावास को छात्रवास क्रमांक १० भी कहते हैं। इसका आरम्भ २०१६ में किया गया था। इस छात्रवास में कुल ४ खण्ड क (A), ख (B) , ग (C) तथा घ (D) हैं। इस नवनिर्मित विशाल छात्रवास के दो खण्डों सी तथा डी में इस समय संस्थान के बी टेक प्रथम वर्ष के लगभग ८०० छात्र रहते हैं। साथ ही अप्रवासी भारतीय (N.R.I) छात्रों के लिए खण्ड-डी के भूतल के कक्ष क्रमांक १०००१ से १०००८ में विशेष दर्जे के साथ जगह दी गई है।

इस छात्रवास के वर्तमान वार्डेन डॉ पुष्पेन्द्र यादव हैं जो कि इसी संस्थान में प्राध्यापक के पद पर कार्यरत हैं। छात्रावास में खेल कूद के लिए वॉलीबॉल कोर्ट एवं टेनिस कोर्ट बना हुआ है।

विद्यार्थी जीवनसंपादित करें

  • स्पिक मैके
  • मानित का आई एस टी ई स्टुडेन्ट चैप्टर
  • राजभाषा कार्यान्यवन समिति
  • क्विजर क्लब
  • दृष्टान्त
  • NITB वेब क्लब
  • हरित बनो (गो ग्रीन) समूह
  • रोटारैक्त क्लब
  • ऐ से ऐनक

उत्सवसंपादित करें

  • तूर्यनाद
  • तत्त्वबोध
  • व्याख्यान
  • मैफिक
  • रिप्पल
  • कोदथान
  • व्याख्यान
  • विज़न वर्कशॉप
  • तकनीकीखोज
  • काइमेरा
  • खेल उन्माद

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Departments". manit.ac.in. 2011. अभिगमन तिथि 13 December 2011.
  2. "मौलाना आजाद राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, भोपाल". संस्थान का आधिकारिक जालस्थल. अभिगमन तिथि ४ मई २००९. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)