रसधानी जन्तु और पादप कोशिकाओं के कोशिका द्रव में पायी जाने वाली रचना है। कोशिका द्रव्य रहित वे निर्जीव कोशिकीय रचनाएँ जो जलनुमा तरल पदार्थों से भरी होती हैं तथा टोनोप्लास्ट नामक आवरण से घिरी होती है, रसधानी कहलाती हैं। इनमें भोज्य पदार्थ संचित रहते हैं। जलीय पौधों की रसधानियाँ गैसयुक्त होकर पौधों को तैरने में मदद करती हैं।पादप कोशिका का यह 90 प्रतिशत स्थान घेरता है।

एक आदर्श जन्तु कोशिका के कोशिका द्रव में विभिन्न कोशिकांगो का चित्र:
(1) केन्द्रिक
(2) केन्द्रक
(3) राइबोसोम (छोटे विन्दु)
(4) vesicle
(5) एंडोप्लाज्मिक रेटुकुलम
(6) गॉल्जीकाय
(7) Cytoskeleton
(8) smooth ER
(9) माइटोकांड्रिया
(10) रसधानी
(11) कोशिका द्रव
(12) लाइसोसोम
(13) तारककाय