मुख्य मेनू खोलें

राम बलराम

1980 की विजय आनन्द की फ़िल्म

राम बलराम 1980 की हिन्दी भाषा की एक्शन फ़िल्म है। इसे विजय आनन्द द्वारा निर्देशित किया गया और इसमें धर्मेन्द्र "राम" और अमिताभ बच्चन "बलराम" के रूप में अभिनय करते हैं। सहायक कलाकारों में ज़ीनत अमान और रेखा शामिल थीं। फ़िल्म में अजीत, अमज़द ख़ान और प्रेम चोपड़ा खलनायक थे। इस फिल्म से तीसरी बार अमिताभ बच्चन और धर्मेन्द्र ने एक साथ अभिनय किया (चुपके चुपके और शोले उनकी पिछली फिल्में रही)[1]

राम बलराम
राम बलराम.jpg
राम बलराम का पोस्टर
निर्देशक विजय आनन्द
निर्माता टीटो
लेखक कमलेश्वर
अभिनेता धर्मेन्द्र,
अमिताभ बच्चन,
रेखा,
ज़ीनत अमान,
अजीत,
अमज़द ख़ान,
प्रेम चोपड़ा
संगीतकार लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
छायाकार फली मिस्त्री
संपादक विजय आनन्द
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1980
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

अपने सौतेले भाई को रास्ते से हटाने के बाद, जगतपाल (अजीत) अपनी भाभी (उर्मिला भट्ट) से धोखाधड़ी से संपत्ति अपने नाम करा लेता है। बाद में उसे घर से निकाल फेंक देता है। लेकिन उसके दो लड़कों को अपने पास रख लेता है। दोनों लड़के अपने चाचा के डर में बड़े होते हैं। एक है बलराम (अमिताभ बच्चन) जो अब एक पुलिस निरीक्षक है और दूसरा है भोलूराम (धर्मेन्द्र) जो कि एक मोटर मैकेनिक है।

भोलूराम और बलराम अपने चाचा के लिए, गलत या सही तरीके से धन अर्जित करते रहते हैं। ऐसा करने में, भोलूराम चंदन सिंह (प्रेम चोपड़ा) और सुलेमान सेठ (अमज़द ख़ान) के क्रोध को भड़काता है। इस बीच, बलराम शोभा (रेखा) और भोलूराम मधु (ज़ीनत अमान) के प्यार में पड़ जाता है। मधु उसके चाचा, जगतपाल की ही बेटी है।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."हमका माफी देई दो"किशोर कुमार, आशा भोंसले6:00
2."लड़की पसंद की"मोहम्मद रफ़ी, लता मंगेशकर5:45
3."यार की खबर मिल गई"किशोर कुमार, आशा भोंसले8:27
4."बलराम ने बहुत समझाया"मोहम्मद रफ़ी, आशा भोंसले, दिलराज कौर6:27
5."एक रस्ता दो राही"मोहम्मद रफ़ी, किशोर कुमार5:30
6."संगीत" (वाद्य संगीत)N/A2:50

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "फ्रेंडशिप डे : पर्दे पर हमेशा हिट रही हैं दोस्ती पर आधारित फिल्में". वेबदुनिया. अभिगमन तिथि 23 सितम्बर 2019.

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें