राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, पटना

राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, (एनआईटी) पटना, बिहार मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा सृजित अठारहवाँ एनआईटी है जो पूर्व में बिहार इंजीनियरी कालेज, पटना था। संस्थान, विद्युत इंजीनियरी, अभियांत्रिकी इंजीनियरी, सिविल इंजीनियरी, इलैक्ट्रानिक एवं संचार इंजीनियरी, आर्कीचेक्टर में अवर स्नातक पाठयक्रम और विद्युत इंजीनियरी, अभियांत्रिकी इंजीनियरी एवं सिविल इंजीनियरी में स्नातकोत्तर पाठयक्रम संचालित करता है। संस्थान आंशिक रूप से आवासीय है जो कुछ छात्रों और शिक्षण स्टाफ को आवास के लिए सीमित सुविधाएं प्रदान करता है। संस्थान में लड़कों के लिए तीन छात्रावास और लड़कियों के लिए एक छात्रावास है। संस्थान परिसर में सात अनिवार्य सेवाएं अर्थात २४ घंटे बिजली की आपूर्ति, उपयुक्त पेयजल, सफाई एवं स्वच्छता का रख-रखाव, सुरक्षा प्रबंध, चिकित्सा आकस्मिक सहायता के लिए एम्बुलेंस सेवा, ईपीएबी एक्स. एवं इंटरनेट सुविधाएं प्रदान करता है। संस्थान का ई-पुस्तकालय सहित आधुनिक पुस्तकालय है।[2]

एनआईटी पटना
पूर्व नाम
Bihar College of Engineering
Motto in English
Hard Work and Consistent Efforts
प्रकारPublic
स्थापित2004
निदेशकPradip Kumar Jain[1]
स्थानपटना, बिहार, भारत
25°36′38″N 85°08′30″E / 25.61056°N 85.14167°E / 25.61056; 85.14167
परिसरUrban
जालस्थलwww.nitp.ac.in

कैंपससंपादित करें

 
एनआईटी पटना

भौगोलिक दृष्टि से अशोक राजपथ के साथ एनआईटी पटना 40 एकड़ (16 हेक्टेयर) परिसर से कार्य करता है, जो गंडक नदी के संगम के बिंदु के बिल्कुल विपरीत गंगा नदी के दक्षिणी तट पर स्थित है। एक नए परिसर के लिए, 125 एकड़ (51 हेक्टेयर) भूखंड, पटना से लगभग 40 किलोमीटर दूर बिहटा के सिकंदरपुर गाँव में सौंपा गया है।[3] पहले इसे बिहटा के डुमरी गाँव में सौंपा गया था। एक बार जब एनआईटी-पटना बिहटा में अपने नए परिसर में शिफ्ट हो जाता है, तो वह अशोक राजपथ के वर्तमान परिसर में कुछ प्रबंधन पाठ्यक्रम चलाएगा।

उल्लेखनीय पूर्व छात्रसंपादित करें

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. Chopra, Ritika (17 October 2017). "Government appoints directors to 11 NITs". The Indian Express. मूल से 18 अक्तूबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 October 2017.
  2. "राष्ट्रीय तकनीकी संस्थान, पटना". संस्थान का आधिकारिक जालस्थल. मूल से 8 फ़रवरी 2009 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि ४ मई २००९. |access-date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. "New land at Bihta for NIT". मूल से 3 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 3 जून 2019.