लव इन टोक्यो

1966 की प्रमोद चक्रवर्ती की फ़िल्म

लव इन टोक्यो 1966 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। यह सचिन भौमिक द्वारा लिखित और प्रमोद चक्रवर्ती द्वारा निर्मित और निर्देशित है। फिल्म में जॉय मुखर्जी, आशा पारेख, प्राण, महमूद, ललिता पवार, असित सेन और मदन पुरी हैं। संगीत शंकर जयकिशन का था जबकि गीत हसरत जयपुरी ने लिखें थे।

लव इन टोक्यो
लव इन टोक्यो.jpg
लव इन टोक्यो का पोस्टर
निर्देशक प्रमोद चक्रवर्ती
निर्माता प्रमोद चक्रवर्ती
लेखक सचिन भौमिक
अभिनेता जॉय मुखर्जी,
आशा पारेख,
महमूद,
प्राण
संगीतकार शंकर-जयकिशन
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1966
देश भारत
भाषा हिन्दी

संक्षेपसंपादित करें

गायत्री देवी (ललिता पवार) अपने बेटे अशोक (जॉय मुखर्जी) को जापान से पोता लाने के लिए भेजती है। गायत्री देवी का एक बड़ा बेटा था, जिसने उसके आशीर्वाद के बिना जापानी मूल की लड़की से शादी की थी। वह चाहती हैं कि अशोक सरिता से शादी कर ले, लेकिन अशोक सरिता में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाता है।

जापान में, अशोक आशा (आशा पारेख) से मिलता है और दोनों प्यार में पड़ जाते हैं। आशा के चाचा चाहते हैं कि आशा प्राण (प्राण) से शादी कर ले, लेकिन आशा प्राण को पसंद नहीं करती और अशोक के साथ भाग जाती है। प्राण अपनी कार से अशोक को टक्कर मार देते है और अशोक अस्पताल में भर्ती हो जाता है। उसकी आँख की रोशनी चली जाती है। गायत्री देवी को जल्द ही पता चलेगा कि दोनों लड़कियों में से कौन - आशा या सरिता, उनके अंधे बेटे को अपनायेगी।

मुख्य कलाकारसंपादित करें

संगीतसंपादित करें

सभी शंकर-जयकिशन द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."ले गई दिल गुड़िया जापान की"हसरत जयपुरीमोहम्मद रफ़ी5:30
2."सायोनारा सायोनारा"हसरत जयपुरीलता मंगेशकर4:12
3."मैं तेरे प्यार का बीमार हूँ"हसरत जयपुरीमन्ना डे4:18
4."कोई मतवाला आया मेरे द्वारे"शैलेन्द्रलता मंगेशकर4:50
5."ओ मेरे शाह-ए-क़ुबा"हसरत जयपुरीलता मंगेशकर4:52
6."आ जा रे आ ज़रा आ"हसरत जयपुरीमोहम्मद रफ़ी4:55
7."ओ मेरे शाह-ए-क़ुबा" (II)हसरत जयपुरीमोहम्मद रफ़ी5:03
8."मुझे तुम मिल गये हमदम"हसरत जयपुरीलता मंगेशकर5:06

नामांकन और पुरस्कारसंपादित करें

प्राप्तकर्ता और नामांकित व्यक्ति पुरस्कार वितरण समारोह श्रेणी परिणाम
महमूद फिल्मफेयर पुरस्कार फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता पुरस्कार नामित

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें