लाल घोरल (Red goral), जिसका वैज्ञानिक नाम नेमोरहेडस बेलियाए (Naemorhedus baileyi) है, भारत, तिब्बतबर्मा में पाया जाने वाली एक घोरल की जीववैज्ञानिक जाति है। यह पहाड़ी क्षेत्रों में 1,000 से 2,000 मीटर की ऊँचाई पर मिलता है।[2]

लाल घोरल
Red goral
लाल घोरल
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: रज्जुकी (Chordata)
वर्ग: स्तनधारी (Mammalia)
गण: द्विखुरीयगण (Artiodactyla)
कुल: बोविडी (Bovidae)
उपकुल: काप्रिने (Caprinae)
वंश: नेमोरहेडस (Nemorhaedus)
जाति: Naemorhedus baileyi
द्विपद नाम
नेमोरहेडस बेलियाए
Naemorhedus baileyi

पोकॉक, 1914
विस्तार मा मानचित्र

इन्हें भी देखें संपादित करें

सन्दर्भ संपादित करें

  1. Duckworth, J.W. & MacKinnon, J. (2008). "Naemorhedus baileyi". The IUCN Red List of Threatened Species. 2008: e.T14294A4429442. डीओआइ:10.2305/IUCN.UK.2008.RLTS.T14294A4429442.en. अभिगमन तिथि 12 January 2018.[मृत कड़ियाँ] Database entry includes a brief justification of why this species is of vulnerable.
  2. "The Red Goral of the North-East Frontier Region." - Hayman. John Wiley & Sons, Inc., n.d. Web. 29 Oct. 2015.