मुख्य मेनू खोलें
Lactic-acid-skeletal.svg

लैक्टिक अम्ल (Lactic acid) विभिन्न जैवरासायनिक प्रक्रमों में प्रमुख भूमिका निभाने वाला एक रासायनिक यौगिक है। इसे सर्वप्रथम स्वीडेन के रसायनविज्ञानी कार्ल विल्हेल्म शीले ने १७८० में विलगित (isolate) किया था। लैक्टिक अम्ल एक कार्बोक्सिलिक अम्ल है जिसका अणुसूत्र C3H6O3 है। मांसपेशियों मैं इसी अम्ल के एकत्रित हो जाने के कारण ही थकावट पैदा होती है। अगर आपको थकावट महसूस हो रही है तो ताजे ठंडे पानी से नहाने से ये अम्ल टुकड़ो में विभाजित हो जाता है जिससे कि आपको होने वाली थकावट कम हो जाएगी और आप पहले से काफी अच्छा महसूस करेगे | ग्लूकोस बिना ऑक्सीजन की उपस्थिति में मांसपेशियों से प्रतिक्रिया कर लैक्टिक अम्ल बनाता है|