यह बहुत गंभीर विषय हैं किसी योद्धा को पहले राजपूत बताया जाता था और अब उसे गुर्जर बना दिया जबकि हमने स्कूल के समय मे हर कक्षा में प्रतिहार वंश को राजपूत वंश पढ़ा है। जिसे पहले प्रतिहार वंश लिखा जाता था और अब गुर्जर प्रतिहार वंश कृपया इतिहास से छेड़छाड़ न होने दे या फिर इतिहास दिखाना बन्द कर दे।

साफ सफाई और प्रतिबंद के लिए।संपादित करें

यह पेज पिछले कुछ समय से बर्बरता का शिकार होता जा रहा है ।इसलिए इस पेज का पुनरीक्षण करके सिर्फ स्त्रोतानुसार उपलब्ध जानकारी जोड़कर इसके editing permissions पर Vandaliser IPs के लिए प्रतिबंध लगाने की जरूरत है। कृपया Admins इस कार्य को अपने निरीक्षण में लें। धन्यवाद। HinduKshatrana (वार्ता) 11:51, 30 सितंबर 2019 (UTC)

मीर भोज को राजपूत बताना हम इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं यह हमारा विषय हैसंपादित करें

अनेकों शिलालेख अनेकों किताबों के अंदर अक्षरधाम मंदिर के अंदर गुर्जर सम्राट मिहिर भोज मान की मूर्ति स्थापित है अनेकों ग्रंथ हो और काव्य के अंदर स्पष्ट लिखा हुआ है मीर भोज गुर्जर प्रतिहार वंश से थे गुर्जर प्रतिहार वंश छठी शताब्दी से लेकर 11वीं 12वीं शताब्दी तक उनका शासनकाल रहा जबकि राजपूत शब्द की उत्पत्ति 12 वीं शताब्दी के बाद इतिहास में आया था जिसका जिक्र हिंदू जाति का उत्थान और पतन नामक किताब स्पष्ट रूप से किया गया है जोकि प्रसिद्ध लेखक रजनीकांत शास्त्री के द्वारा लिखी गई है और यह किताब काफी लंबे समय से यूनिवर्सिटी के कोर्सो के अंदर नियमित रूप से पढ़ाई जा रही है Satishbaisla007 (वार्ता) 17:48, 25 नवम्बर 2019 (UTC)

मिहिर भोज कोई राजपूत नहीं वह एक क्षत्रिय थे उस समय उनका राजवंश गुर्जर प्रतिहार यानी गुर्जर द्वारपाल और रक्षक था।तो इससे ये जाहिर होता है कि ये राजपूत नहीं है ।राजपूत कालांतर में बनी जाती है ये कोई पौराणिक जाती नहीं है यह जाती गुर्जर अहीर ब्राह्मण आदि वर्गो से बनी जाती है। और अभी ASI की रिपोर्ट के अनुसार भगवान राम का मंदिर गुर्जर प्रतिहार राजवंश ने बनवाया ।ओर ASI के regional डायरेक्टर ने ये भी बताया कि यह गुर्जर जाती के राजाओं ने बनावाया न कि राजपूत ।ये राजपूत गुर्जरो में से निकले हुए वर्ग हैं। Hritik patel g (वार्ता) 22:47, 25 नवम्बर 2019 (UTC)

मीर भोज को राजपूत बताना हम इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं यह हमारा विषय हैसंपादित करें

मीर भोज को राजपूत बताना हम इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं यह हमारा विषय है Rajat daharwal (वार्ता) 04:22, 13 दिसम्बर 2019 (UTC)

मीर भोज को राजपूत बताना हम इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं यह हमारा विषय हैसंपादित करें

मीर भोज को राजपूत बताना हम इस पर आपत्ति दर्ज कराना चाहते हैं यह हमारा विषय है Rajat daharwal (वार्ता) 04:22, 13 दिसम्बर 2019 (UTC)

Dhayandeसंपादित करें

मिहिर भोज कोई राजपूत नहीं वह एक क्षत्रिय थे उस समय उनका राजवंश गुर्जर प्रतिहार यानी गुर्जर द्वारपाल और रक्षक था।तो इससे ये जाहिर होता है कि ये राजपूत नहीं है ।राजपूत कालांतर में बनी जाती है ये कोई पौराणिक जाती नहीं है यह जाती गुर्जर अहीर ब्राह्मण आदि वर्गो से बनी जाती है। और अभी ASI की रिपोर्ट के अनुसार भगवान राम का मंदिर गुर्जर प्रतिहार राजवंश ने बनवाया ।ओर ASI के regional डायरेक्टर ने ये भी बताया कि यह गुर्जर जाती के राजाओं ने बनावाया न कि राजपूत ।ये राजपूत गुर्जरो में से निकले हुए वर्ग हैं। Hritik patel g (वार्ता) 22:47, 25 नवम्बर 2019 (UTC) Rajat daharwal (वार्ता) 04:24, 13 दिसम्बर 2019 (UTC)

पृष्ठ "मिहिर भोज" पर वापस जाएँ।