मशीनों, औजारों और श्रम का उपयोग करके सामान बनाने की क्रिया को विनिर्माण (Manufacturing) कहते हैं। विनिर्मित सामान स्वयं प्रयोग के लिये हो सकते हैं, या बेचने के लिये। विनिर्माण के अन्तर्गत हस्तकला से लेकर उच्च तकनीकी तक बहुत सी मानवी गतिविधियाँ आ जाती हैं किन्तु इस शब्द का उपयोग प्रायः औद्योगिक उत्पादन के अर्थ में किया जाता है जिसमें कच्चा माल बड़े पैमाने पर तैयार माल में बदला जाता है। विनिर्माण से तैयार माल उपभोक्ताओं द्वारा उपयोग किया जा सकता है या इसका प्रयोग अधिक जटिल वस्तुओं के विनिर्माण में किया जा सकता है।

उत्पाद का जीवनचक्र

विनिर्मित सामग्री की मात्रा के अनुसार देशों की सूचीसंपादित करें

 
बोइंग ७८७ का अन्तिम असेम्बली सेक्सन
 
आटोमोबाइल की आधुनिक असेम्बली लाइन

निम्नलिखित आंकड़े विश्व बैंक द्वारा उपलब्ध कराये गये हैं।[1][2] इसमें विनिर्मित वस्तुओं का कुल मूल्य अमेरिकी डॉलर में दिया गया है।



रैंक देश/क्षेत्र दस लाख अमेरिकी डॉलर Year
 विश्व 13,171,000 2017
1   चीनी जनवादी गणराज्य 4,002,752 2018
2   संयुक्त राज्य 2,173,319 2017
3   जापान 1,007,330 2017
4   जर्मनी 832,431 2018
5   दक्षिण कोरिया 440,941 2018
6   भारत 408,693 2018
7   इटली 310,897 2018
8   फ़्रान्स 273,971 2018
9   यूनाइटेड किंगडम 251,985 2018
10   मेक्सिको 208,498 2018
11   इंडोनेशिया 207,017 2018
12   रूस 203,988 2018
13   ब्राज़ील 180,541 2018
14   स्पेन 180,264 2018
15   कनाडा 160,531 2015
16   तुर्की 146,077 2018
17   थाईलैण्ड 135,927 2018
18   स्विट्ज़रलैंड 129,162 2018
19   आयरलैंड 115,591 2018
20   सउदी अरब 100,232 2018

विनिर्माण प्रक्रिया का मॉडलसंपादित करें

सन्दर्भसंपादित करें

  1. "Manufacturing, value added (current US$) Archived 9 नवम्बर 2014 at the वेबैक मशीन.". access in February 20, 2013.
  2. "Manufacturing, value added (current US$) for EU and Eurozone Archived 9 नवम्बर 2014 at the वेबैक मशीन.". access in February 20, 2013.

इन्हें भी देखेंसंपादित करें

बाहरी कड़ियाँसंपादित करें